Recent Activities

वेटरनरी विश्वविद्यालय
पशु विज्ञान केन्द्र जोबनेर का हुआ शिलान्यास
वैज्ञानिक पशुपालन को युवा स्वरोजगार के रूप में अपनाए कृषि एवं पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया

बीकानेर 19 जनवरी। माननीय कृषि एवं पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने बुधवार को वेटरनरी विश्वविद्यालय के 16वें पशु विज्ञान केन्द्र, जोबनेर (जयपुर) का शिलान्यास किया। इस अवसर पर कृषि एवं पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने कहा कि पशुपालन के क्षेत्र में ऐसी तकनीकें विकसित हो जिससे कि देशी गौवंश व अन्य पशुओं की उत्पादन क्षमता में वृद्धि हो सके तथा युवाओं को इससे प्रेरणा मिले और वे इसे स्वरोजगार के रूप में अपना सके। कुलपति प्रो. सतीश के. गर्ग ने कहा कि वेटरनरी विश्वविद्यालय के अर्न्तगत संचालित पशु विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से पशुपालकों को पशुपालन की वैज्ञानिक तकनीकों एवं नवाचारों से अवगत कराया जाता है। विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों को आयोजित कर पशुपालकों का कौशल विकास किया जा रहा है। इस नवीन पशु विज्ञान केन्द्र के खुल जाने से इस क्षेत्र के किसानों व पशुपालकों को सीधा लाभ मिल सकेगा जो कि इनके आर्थिक उत्थान में सहायक सि़द्ध होगा। गौरतलब है कि राज्य में पशुपालन विकास एवं पशुपालकों के कल्याण को देखते हुए माननीय मुख्यमंत्री ने वर्ष 2021-22 की बजट घोषणा में जोबनेर में पशु विज्ञान केन्द्र खोलने की घोषणा की थी। पशु विज्ञान केन्द्र की क्रियान्विति हेतु राज्य सरकार द्वारा पदों की स्वीकृति एवं केन्द्र के भवन निर्माण कार्य, आवश्यक उपकरण व फर्नीचर की खरीद तथा कार्यालय व्यय हेतु वित्तीय स्वीकृति भी प्रदान कर दी गई है। शिलान्यास समारोह में निदेशक प्रसार शिक्षा प्रो. राजेश कुमार धूड़िया, अधिष्ठाता पी.जी.आई.वी.ई.आर, प्रो. संजीता शर्मा, प्रधान शैतान सिंह मेहरड़ा, जिला परिषद् सदस्य पेमाराम सेपट, सरपंच हरि सिंह पूरी, अतिरिक्त निदेशक पशुपालन डॉ. उमेश सिंह, विशेषाधिकारी डॉ. ओ.पी. गढ़वाल, प्रगतिशील किसान एवं पशुपालक गंगाराम सेपट, सुरेन्द्र निर्वाणा, डॉ. गोविन्द सहाय गौतम, प्रभारी अधिकारी पशु विज्ञान केन्द्र डॉ. अशोक बेंदा एवं अन्य गणमान्य लोग शामिल हुए। कार्यक्रम के अंत में प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. राजेश कुमार धूड़िया ने धन्यवाद ज्ञापित किया।