कुलपति, राजुवास द्वारा पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में सौर ऊर्जा सयंत्र का उद्घाटन

कुलपति, राजुवास द्वारा पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर
में सौर ऊर्जा सयंत्र का उद्घाटन

जयपुर, 01 जनवरी। राजुवास के माननीय कुलपति प्रो. (डाॅ.) विष्णु शर्मा ने शुक्रवार को स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पी.जी.आई.वी.ई.आर.), जयपुर में नवनिर्मित सौर ऊर्जा सयंत्र का उद्घाटन किया। अपने उद्बोधन में कुलपति महोदय ने सभी को नववर्ष की शुभकामनाऐं देते हुये उनके मंगल भविष्य की कामना की। नववर्ष के इस शुभ अवसर पर उन्होंने सभी संकाय सदस्यों को इस नये ऊर्जा श्रोत की तरह ही अपने अन्दर भी नये ऊर्जा का प्रवाह करने का आह्वाहन किया। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में विश्वविद्यालय के सभी महाविद्यालयों, अनुसंधान तथा प्रसार केन्द्रों को पूर्णतया सौर ऊर्जा द्वारा बिजली प्रदान की जावेगी। किसी भी संस्थान की प्रगति का आंकलन उसके आर्थिक, शैक्षणिक, अनुसंधान, पर्यावरण आदि मानकों पर की जाती है। इसलिए इन सब क्षेत्रांे में प्रगति करने से ही संस्थान की प्रगति होती है। कार्यक्रम के दौरान कुलपति महोदय ने संस्थान के संकाय सदस्यों द्वारा लिखित पुस्तक (प्रेक्टिकल वेटेरनरी बायोकेमेस्ट्री) का विमोचन तथा एम-राजुवास के आई.ओ.एस. (एप्पल) संस्करण का अनावरण भी किया। इस अवसर पर प्रो. (डाॅ.) संजीता शर्मा, अधिष्ठाता, पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर ने कुलपति महोदय को पिछले वर्ष संस्थान द्वारा अर्जित किये गये विषिष्ट उपलब्धियों जैसे राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन, संस्थान का भारतीय पशुचिकित्सा परिषद् की प्रथम अनुसूची में समावेश, देशी गौवंश के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु चलाये जा रहे भ्रूण प्रत्यारोपण कार्यक्रम, संस्थान के प्रथम स्नातक बैच का उपाधि प्राप्त करना, विश्वविद्यालय स्तर पर संस्थान के विधार्थियों का उत्कृष्ट प्रदर्शन आदि का उल्लेख करते हुए संस्थान की विभिन्न गतिविधियों के प्रगति से अवगत कराया। इस कार्यक्रम में प्रो. आर.के. जोशी, अधिष्ठाता, सी.वी.ए.एस., नवानियां ने भी सभी को नववर्ष की शुभकामनाऐं प्रेषित की तथा संस्थान की उपलब्धियों के लिए बधाई दी। इस कार्यक्रम में संस्थान के संकाय सदस्यों तथा कर्मचारियों ने भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 के विभिन्न दिशा-निर्देशों जैसे सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क एवं सेनेटाईजेशन का उपयोग आदि का पालन किया गया।

अधिष्ठाता