नवानियां, उदयपुर वेटरनरी कॉलेज में हर्षोल्लास से मनाया गया 75वां स्वतंत्रता दिवस। सघन वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत विभिन्न किस्मों के 500 पौधे लगाए गए।

नवानियां 15 अगस्त।पशुचिकित्सा और पशुविज्ञान महाविद्यालय, नवानियां, उदयपुर में स्वतंत्रता दिवस समारोह सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड गाइडलाइंस की पालना करते हुए हर्षोल्लास से मनाया गया। महाविद्यालय अधिष्ठाता (प्रो.) डॉ. राजीव कुमार जोशी ने महाविद्यालय प्रांगण में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया और सलामी दी।समारोह का शुभारंभ राष्ट्रीय गान के साथ हुआ। इसके बाद राजुवास गान, माननीय राज्यपाल महोदय के संदेश का वाचन तथा माननीय कुलपति महोदय के शुभ कामनाएं डिजिटल मीडिया द्वारा प्रेषित की गई। डॉ. जोशी ने सभी संकाय सदस्यों और कर्मचारियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई दी। उन्होंने शहीदों को याद करते हुए कहा कि इस दिन हर भारतीय के मन में देशभक्ति की लहर एवं मातृभूमि के प्रति अपार स्नेह व सम्मान जाग उठता है हर भारतीय अपने देश के प्रति कुछ कर गुजरने की तमन्ना रखता है इसी जोश एवं जज्बे के साथ देश को उन्नति के नए शिखर पर पहुंचाने का हम सभी को संकल्प लेना है।

उन्होंने महाविद्यालय की विभिन्न उपलब्धियों और गतिविधियों पर विस्तार से प्रकाश डाला और आगामीवर्ष की मुख्य गतिविधियों के बारे में बताया। स्वाधीनता समारोह के इस अवसर पर महाविद्यालय कैंपस में संकाय सदस्यों, अधिकारियों तथा प्रत्येक कर्मचारी द्वारा 11-11 पौधे लगाए तथा उनकी सुरक्षा और जीवित रखने का संकल्प लिया गया। उल्लेखनीय है कि इस दौरान महाविद्यालय परिसर में सघन वृक्षारोपण कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न किस्मों के लगभग 500 पौधे लगाये गये। इस अवसर पर संकाय सदस्यों द्वारा देशभक्ति से ओत-प्रोत मधुर प्रस्तुतियां दी गई। इस अवसर पर गैर-शैक्षणिक कर्मचारी मगनीराम, केशुलाल, बाबूलाल डांगी को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया।इस अवसर पर राजुवास स्थापना दिवस पर आयोजित कविता लेखन प्रतियोगिता में चतुर्थ वर्ष के सत्यनारायण को तथा स्वाधीनता दिवस पर वैक्सीनेशन थीम पर आयोजित आॅनलाइन पोस्टर प्रतियोगिता में द्वितीय वर्ष के आयशा हाशमी, प्रियंका बुरानियां व अमजद खान को पुरुस्कृत किया गया।समारोह और कार्यक्रम में 2 राज. आर. एंड वी. एनसीसी रेजीमेंट के स्टाफगण सहित विभिन्नसंकाय सदस्य उपस्थित रहें। इस अवसर पर मंच संचालन डॉ. अभिषेक गौरव द्वारा किया गया।