राजुवास और आई.सी.आई.सी.आई. फाउण्डेशन के मध्य हुआ आपसी करार

बीकानेर, 27 अक्टूबर। वेटरनरी विश्वविद्यालय और आई.सी.आई.सी.आई. फाउण्डेशन, मुम्बई ने बुधवार को पशुपालन क्षेत्र में युवाओं एवं किसानों के रोजगार एवं विकास हेतु आपसी सहयोग और समन्वय के लिए करार (एम.ओ.यू.) किया। वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सतीश के. गर्ग और ऑनलाईन कॉनफ्रेंस से जुड़े आई.सी.आई.सी.आई. फाउण्डेशन, सी.ई.ओ. अनुज अग्रवाल ने करार पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर कुलपति प्रो. गर्ग ने कहा कि आई.सी.आई.आई. फाउण्डेशन पिछले चार वर्षों से वेटरनरी विश्वविद्यालय से जुडकर उदयपुर क्षेत्र में किसानों एवं पशुपालकों के हितार्थ उल्लेखनिय कार्य कर रहा है लेकिन वेटरनरी विश्वविद्यालय का कार्य क्षेत्र बहुत व्यापक है। इस करार के बाद दक्षिण राजस्थान के साथ-साथ राज्य के अन्य हिस्सों में वेटरनरी विश्वविद्यालय की विभिन्न इकाईयों एवं आई.सी.आई.सी. फाउण्डेशन के सम्मिलित प्रयासों से यहां के पशुपालकों एवं किसानों को निश्चित फायदा होगा। ज्ञान, कौशल एवं नवीन तकनीकों का हस्तांतरण पशुपालकों की आजीविका के आर्थिक उत्थान हेतु सहयोगी साबित होंगे। इस अवसर पर कुलपति प्रो. गर्ग ने इस आपसी करार के तहत विभिन्न पशुपालकों के आर्थिक उत्थान हेतु विभिन्न उद्देश्यों के तहत एक रोड़ मेप तैयार कर कार्य करने का सुझाव दिया। आई.सी.आई.सी.आई. फाउण्डेशन के सी.ई.ओ., अनुज अग्रवाल ने कहा कि यह फाउण्डेशन किसानों एवं पशुपालकों के सतत् विकास हेतु निरन्तर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास के एकीकृत मॉडल को क्रियान्वित किया जायेगा ताकि राज्य के किसानों को आर्थिक फायदा मिल सके। उन्होंने इस करार के माध्यम से ग्रामीण विकास के साथ-साथ, शोधार्थी छात्रों एवं उनके रोजगार हेतु बहुविकल्पों को अंजाम देने की इच्छा जाहिर की। इस अवसर पर वेटरनरी कॉलेज, बीकानेर के अधिष्ठाता प्रो. आर.के. सिंह, नवानियां वेटरनरी कॉलेज अधिष्ठाता प्रो. राजीव जोशी, अनुसंधान निदेशक प्रो. हेमन्त दाधीच, निदेशक प्रसार शिक्षा प्रो. राजेश कुमार धूड़िया, निदेशक मानव संसाधन विकास प्रो. बी.एन. श्रृंगी, डॉ. शिव प्रसाद जोशी, डॉ, सुरेश झीरवाल, डॉ. राजेश नेहरा, डॉ. दीपक शर्मा, आई.सी.आई.सी.आई. फाउण्डेशन के अंचल प्रमुख संजय चौधरी, निदेशक आई.सी.आई.सी.आई. फाउण्डेशन, उदयपुर अमर दीक्षित एवं रीजन प्रमुख बीकानेर विकास आदि उपस्थित रहे।