150वीं गांधी जयंती : वेटरनरी विश्वविद्यालय व पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में गांधी दर्शन पर व्याख्यान, निबंध और आशु भाषण प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन: स्वच्छता पखवाड़े का समापन

क्रमांक 112                                                                                        2 अक्टूबर, 2018

150वीं गांधी जयंती
वेटरनरी विश्वविद्यालय में गांधी दर्शन पर व्याख्यान, निबंध और आशु भाषण प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन:
स्वच्छता पखवाड़े का समापन

बीकानेर, 2 अक्टूबर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती वर्ष के उपलक्ष में वेटरनरी विश्वविद्यालय में मंगलवार को “महात्मा गांधी की नीतियों एवं दर्शन“ विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता के रूप में वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने कहा कि गांधी जी ने शांति, सत्य और अहिंसा के बल पर देश को आजाद करवाकर दुनिया को एक संदेष दिया। उनका जीवन दर्शन पूरी दुनिया में आज भी प्रासंगिक है। उन्होंने छात्रों का आह्वान किया कि वे बापू के सिद्वातों को अपने जीवन में उतारकर सफलता अर्जित कर सकते है। इस अवसर पर वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने भी बापू के जीवन दर्शन पर अपने विचार व्यक्त किए।

छात्रों की निबंध और आषु भाषण प्रतियोगिता

जयंती दिवस पर वेटरनरी विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं की आशु भाषण एवं निबंध लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। राजुवास के मोहन सिंह लेक्चर थिएटर में आयोजित भाषण प्रतियोगिता में “महात्मा गांधी के विचार एवं आधुनिक भारत“ विषय पर विद्यार्थियों ने अपने विचार रखे। इस प्रतियोगिता में गौरांग शर्मा प्रथम, अनिल तिवारी द्वितीय और पंकज धतरवाल तृतीय स्थान पर विजेता रहे। “ग्राम स्वरोजगार की वर्तमान स्वरूप में प्रासंगिकता“ विषय पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता में शक्ति कुमार प्रथम, विक्रम सिंह द्वितीय और लोकेन्द्र तृतीय रहे।

श्रमदान से स्वच्छता पखवाड़े का समापन

मंगलवार को ही राजुवास परिसर में स्वच्छता ही सेवा के तहत राष्ट्रीय स्वच्छता पखवाडे़ के अंतिम दिन वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा की अगुवाई में एन.सी.सी. कैडेट्स, राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के कार्यकताओं, फैकल्टी सदस्यों, कर्मचारियों और छात्र-छात्राओं ने बड़ी संख्या में श्रमदान किया। इस अवसर पर वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने विद्यार्थियों को स्वच्छता के महत्व और आवष्यकता के बारे में बताया। वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा और राजुवास के प्रसार षिक्षा निदेषक प्रो. ए.पी. सिंह ने भी श्रमदान में शिरकत की।

पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में गांधीजी की 150वीं जयन्ती पर स्वच्छता अभियान एवं अन्य कार्यक्रमों का आयोजन

जयपुर, 02 अक्टूबर, 2018। स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा षिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पी.जी.आई.वी.ई.आर.), जयपुर मेें मंगलवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती पर सभी को संबोधित करते हुए अधिष्ठाता प्रो. (डाॅ.) संजीता शर्मा ने गांधीजी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके सम्पूर्ण जीवन को समर्पण का एक अद्वितीय उदाहरण बताया। उनका मानना था कि गांधीजी ऐसे शख्सियत थे जिनको दुनिया के हर हिस्से में सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। उन्होंने सत्य एवं अहिंसा के मार्ग को अपनाकर भारत को अंग्रेजों से आजादी दिलाई। वे विचारों एवं सच के साथ प्रयोग करने से कभी नहीं हिचकते थे। अधिष्ठाता महोदया ने कहा कि गांधीजी के विचारों को आत्मसात करने से हमारे जीवन में भी सकारात्मक बदलाव आ सकते हैं। इससे पहले संस्थान में स्वच्छता अभियान का आयोजन किया गया जिसमें शैक्षणिक व अशैक्षणिक कर्मचारियों तथा विद्यार्थियों ने संस्थान परिसर के विभिन्न भागों में सफाई की। डाॅ. अषोक बैंधा ने गांधीजी के जीवन एवं वर्तमान समय में उसकी प्रासंगिकता पर प्रकाश डालते हुए व्याख्यान प्रस्तुत किया। विद्यार्थियों के लिये भी विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये जिसमें महात्मा गांधी एवं उनके जीवन दर्षन पर आधारित प्रश्नोत्तरी तथा स्लोगन प्रतियोगिता प्रमुख थे। आधुनिक भारत में गांधी दर्शन की प्रासंगिकता विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता तथा लघु नाटिका का भी आयोजन किया गया। सोषल मीडिया जागरूकता अभियान के तहत फेसबुक और वाट्सअप के माध्यम से भी गांधीजी के जीवन के बारे में भी सभी को जानकारी प्रदान की गई। यह पूरा कार्यक्रम कार्यवाहक सहायक अधिष्ठाता, छात्र कल्याण डाॅ. विकास गालव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ।

निदेशक