सूरतगढ़ के 50 कृषकों के दल ने वेटरनरी विश्वविद्यालय का भ्रमण कर जानी वैज्ञानिक पशुपालन की तकनीकें

क्रमांक 1765                                                                                09 नवम्बर, 2017

सूरतगढ़ के 50 कृषकों के दल ने वेटरनरी विश्वविद्यालय का भ्रमण कर जानी वैज्ञानिक पशुपालन की तकनीकें

बीकानेर, 9 नवम्बर। कृषि विभाग की आत्मा परियोजना के तहत श्री गंगानगर जिले की सूरतगढ़ ब्लाॅक के 50 कृषक एवं पशुपालकों के दल ने गुरूवार को वेटरनरी विश्वविद्यालय का भ्रमण कर पशुपालन की विभिन्न तकनीकों को देखा और जानकारी ली। उन्होंने म्यूजियम का अवलोकन कर हरे चारे उत्पादन की अजोला इकाई के बारे में पूरी रूचि लेकर जानकारी ली। अजोला इकाई में वर्ष भर हरा चारा घर या खेतों में ही उपलब्ध होता है। महिला कृषकों ने कुक्कुटशाला में पशु विविधिकरण सजीव माॅडल में विभिन्न पशु-पक्षियों के पालन और उनके आय बढ़ाने के बारे में जानकारी प्राप्त की। मुर्रा भैंस, मुर्गी, बतख और खरगोश पालन के साथ-साथ टर्की और एमू पालन को बडे गौर से देखा। प्रसार शिक्षा के सहायक प्राध्यापक डाॅ. देवी सिंह और डाॅ. पंकज मिश्रा ने उन्हें जानकारी दी। सहायक कृषि अधिकारी श्री प्रेमकुमार यादव दल का नेतृत्व कर रहे थे।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ