सीकर जिले के 50 कृषकों ने वेटरनरी विश्वविद्यालय डेयरी फाॅर्म और कुक्कुट पालन से आय बढ़ाने के तरीके जाने

क्रमांक 351                                                                                          10 दिसम्बर, 2019

सीकर जिले के 50 कृषकों ने वेटरनरी विश्वविद्यालय डेयरी
फाॅर्म और कुक्कुट पालन से आय बढ़ाने के तरीके जाने

बीकानेर, 10 दिसम्बर। सीकर जिले से आए 50 कृषक और पशुपालकों के दल ने मंगलवार को वेटरनरी विश्वविद्यालय में राठी गौवंष के डेयरी फाॅर्म और कुक्कुटशाला का भ्रमण किया। आत्मा परियोजना के तहत अनर्तराज्यीय कृषक भ्रमण कार्यक्रम के तहत यहां पहुँचे कृषकों ने कुक्कुट पालन में गहरी रूचि दिखाते हुए खेती-बाड़ी के साथ-साथ आय बढ़ाने के तरीकों की जानकारी ली। राजुवास के प्रसार शिक्षा निदेशालय के डाॅ. अतुल अरोड़ा एवं डाॅ. प्रवीण कौशिक ने किसानों को बताया कि देशी मुर्गियों की विभिन्न प्रजातियों का पालन और अंडों की विपणन व्यवस्था से किसान नियमित आय अर्जित कर सकते हैं। खरगोश पालन भी आसानी से करके आय को बढ़ाया जा सकता है। किसानों ने डेयरी में देशी गौवंश राठी के लालन-पालन और उसकी उत्पादन क्षमता के बारे में भी जानकारी ली। किसानों के दल का नेतृत्व सहायक कृषि अधिकारी मुकेश चैधरी और कृषि पर्यवेक्षक सोहनलाल ने किया।

सह-समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ