वेटरनरी विश्वविद्यालय में प्रवासी पक्षियों के स्वास्थ्य व आपात चिकित्सा पर पशुपालन विभाग के पशुचिकित्सकों का प्रशिक्षण प्रारंभ

वेटरनरी विश्वविद्यालय में
प्रवासी पक्षियों के स्वास्थ्य व आपात चिकित्सा पर पशुपालन विभाग के पशुचिकित्सकों का प्रशिक्षण प्रारंभ

बीकानेर, 5 जनवरी। प्रवासी पक्षियों के स्वास्थ्य और संक्रामक बीमारियों की आपात स्थिति में चिकित्सा पर पशुचिकित्सा अधिकारियों का 5 दिवसीय प्रशिक्षण मंगलवार से वेटरनरी विश्वविद्यालय में शुरू हो गया। राजुवास के मानव संसाधन विकास निदेशालय और वन्य जीव प्रबंधन एवं स्वस्थ्य अध्ययन केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित आॅनलाइन प्रशिक्षण में पशुपालन विभाग के 24 वरिष्ठ पशुचिकित्सा अधिकारी भाग ले रहे हैं। वन्य जीव प्रबंधन एवं स्वास्थ्य अध्ययन केन्द्र, बीकानेर के प्रमुख अन्वेषक डाॅ. साकार पालेचा ने बताया कि वेटरनरी विश्वविद्यालय के प्रमुख वैज्ञानिक और विशेषज्ञ 5 तकनीकी सत्रों में प्रवासी पक्षियों में स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों और आपात चिकित्सा पर प्रशिक्षण देंगे। प्रशिक्षण के उदघाटन अवसर पर वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. आर.के. सिंह, निदेशक मानव संसाधन प्रो. त्रिभुवन शर्मा, निदेशक अनुसंधान प्रो. हेमन्त दाधीच, स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान की अधिष्ठाता प्रो. संजीता शर्मा, निदेशक क्लिनिक्स प्रो. ए.पी. सिंह शामिल हुए।