वेटरनरी विश्वविद्यालय में बिना मास्क के प्रवेश किया वर्जित

वेटरनरी विश्वविद्यालय में बिना मास्क के प्रवेश किया वर्जित

बीकानेर, 25 सितम्बर। कोरोना महामारी प्रकोप के मद्देनजर वेटरनरी विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर सहित महाविद्यालयों, संस्थानों और इकाइयों में बिना मास्क के प्रवेश पर रोक लागू की गई है। वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मास्क का उपयोग जरूरी है। राज्य सरकार द्वारा भी जिलों में ‘नो मास्क-नो एंट्री‘ अभियान शुरू किया गया है। विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर सहित सभी महाविद्यालयों, जिलों में स्थित 8 पशुधन अनुसंधान केन्द्रों, 14 पशुचिकित्सा विश्वविद्यालय प्रशिक्षण एवं अनुसंधान केन्द्रों के प्रवेश स्थलों पर ‘नो मास्क-नो एंट्री‘ के संकेतक लगाकर आगंतुकों को आगाह किया गया है। महाविद्यालयों में स्थित टीचिंग वेटरनरी क्लिनिकल कॉम्प्लेक्स के चिकित्सकों, इन्टर्नशिप विद्यार्थियों और आने वाले पशुपालकों को कोरोना गाइड लाइन के अनुसार निर्देशों की सख्ती से पालना करवाने के लिए अधिकारियों को जिम्मा सौंपा गया है। विश्वविद्यालय के सभी परिसरों में बिना मास्क के प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। कार्य स्थल पर थर्मल स्केनिंग, हैण्ड सेनेटाइजर और सामाजिक दूरी सहित कोरोना निरोधक उपायों का पूरा ध्यान रखा जाए। विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों, कर्मचारियों और अधिकारियों को इस बाबत दिशा-निर्देश दिए गए हैं। कुलपति प्रो. शर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव ही उपचार का एक मात्र जरिया है अतः अपने अमूल्य जीवन की रक्षा और दूसरों को इसके संक्रमण से बचाने के लिए हमें कोरोना गाइड लाईन की पालना के प्रति गंभीर रहना होगा। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा आवश्यकता के अनुसार थर्मल स्केनिंग मशीनें, हैण्ड सेनेटाइजर सहित और अन्य सभी कोरोना निरोधक उपायों को लागू किया गया है।