वेटरनरी विश्वविद्यालय में कुक्कुट पालन व उद्यमिता शिविर सम्पन्न

क्रमांक 1724                                                                                            11 सितम्बर, 2017

वेटरनरी विश्वविद्यालय में कुक्कुट पालन व उद्यमिता शिविर सम्पन्न

बीकानेर, 11 सितम्बर। राजस्थान पषुचिकित्सा एवं पषु विज्ञान विष्वविद्याालय, बीकानेर एंव केन्द्रीय कुक्कुट विकास सगंठन, चण्डीगढ के सहयोग से छः दिवसीय कुक्कुट प्रषिक्षण एंव उद्यमिता षिविर का आयोजन विष्वविद्यालय के पषु विविधिकरण सजीव माॅडल द्वारा कुक्कुट शाला में आयोजित किया गया। प्रशिक्षण संयोजक प्रो. बसन्त बैस ने बताया कि प्रशिक्षण में कुक्कुट आहार प्रबंधन, विभिन्न ऋतुआंे में मुर्गियों का प्रबंधन, मुर्गियों के प्रमुख रोग व रोकथाम, अंडों का सरंक्षण एवं ग्रेडिंग, मुर्गी फार्म में काम आने वाले विभिन्न उपकरण, बाॅ्रयलर पालन-ः लाभकारी व्यवसाय के बारे में जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के समापन अवसर पर शनिवार को वेटरनरी विष्वविद्यालय के प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो डॉ. अवधेश प्रताप सिंह ने प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण-पत्र प्रदान किए तथा प्रोजेक्ट के अधिकारियों द्वारा तैयार किये गए फोल्डर “भरपूर प्रोटीन का पर्यायरूअंडे“ का विमोचन भी किया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. विनीत कुमार, प्रभारी केन्द्रीय कुक्कुट संस्थान चण्डीगढ एंव डाॅ. छोटे सिंह ढाका ईन्चार्ज प्रोल्ट्र्ी फार्म के द्वारा किया गया जिसमें महाविद्यालय के विभिन्न विषय विषेषज्ञो डाॅ अंजु चाहर, डाॅ अरूण कुमार, डाॅ दिनेष जैन, डाॅ अषोक कुमार, डाॅ राजेष नेहरा, डाॅ नीरज शर्मा, डाॅ संजय सिंहए डाॅ लोकेश टाक इत्यादि द्वारा कुक्कुट प्रंबधन से संबधित विभिन्न विषयों पर व्याख्यान दिए गए।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ