वेटरनरी विश्वविद्यालय : पशुधन उत्पादन के क्षेत्र में उद्यमिता एवं बाजार उन्मुख प्रसार विषय पर राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन

वेटरनरी विश्वविद्यालय
पशुधन उत्पादन के क्षेत्र में उद्यमिता एवं बाजार उन्मुख
प्रसार विषय पर राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन

बीकानेर, 3 नवम्बर। वेटरनरी विश्वविद्यालय के पशुचिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय, बीकानेर के पशुधन नवाचार, ज्ञान एवं उद्यमिता केंद्र द्वारा “पशुधन उत्पादन के क्षेत्र में उद्यमिता एवं बाजार उन्मुख प्रसार” विषय पर राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने कहा कि पशुचिकित्सा विद्यार्थियों को पशुचिकित्सा व्यवसाय के अतिरिक्त भी अन्य संबंधित विषयों में उद्यमिता की पहचान कर आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि जैविक पशुपालन पशुधन उत्पादन के क्षेत्र में उद्यमिता के नवीन आयाम स्थापित कर सकता है। उन्होंने विद्याथियों से आह्वान किया कि इस तरह के वेबिनार का अधिकतम लाभ उठाकर पशुचिकित्सा के क्षेत्र में नवीनतम जानकारी प्राप्त करें। वेबीनार के मुख्य वक्ता भारतीय पशुचिकित्सा अनुसंधान संस्थान, इज्जतनगर, बरेली के संयुक्त निदेशक (प्रसार शिक्षा) डॉ. महेश चंदर ने उद्यमिता के विभिन्न आयामों पर विस्तृत जानकारी दी तथा विभिन्न विद्यार्थियों की सफलता की स्टोरीज का वर्णन किया। उन्होंने विशेष रूप से छात्रों को सम्बोधित करते हुए विभिन्न स्टार्टअप योजनाओं में भाग लेने हेतु प्रेरित किया। पशुचिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय, बीकानेर के अधिष्ठाता प्रो. आर.के. सिंह ने सभी का स्वागत किया। इस अवसर पर निदेशक मानव संसाधन प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने सत्र का संक्षिप्तीकरण किया। कार्यक्रम का संचालन केंद्र के प्रभारी डॉ. नीरज कुमार शर्मा ने किया। इस अवसर पर वेटरनरी विश्वविद्यालय का संघठक महाविद्यालय, नवानियां, उदयपुर के अधिष्ठाता प्रो. राजीव कुमार जोशी और पी.जी.आई.वी.ई.आर. जयपुर से डॉ. धर्म सिंह मीना उपस्थित रहे। वेबीनार का आयोजन विश्वविद्यालय के आईयूएमएस प्रभारी डॉ. अशोक डांगी के सहयोग से संपन्न किया गया।