वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा राजस्थान प्री-वेटरनरी टेस्ट का आयोजन 10 जून रविवार को बीकानेर और जयपुर में

क्रमांक 27                                                                                                                                   6 जून 2018

वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा राजस्थान प्री-वेटरनरी टेस्ट
का आयोजन 10 जून रविवार को बीकानेर और जयपुर में

बीकानेर, 6 जून। वेटरनरी विश्वविद्यालय में स्नातक (बी.वी.एस.सी. एण्ड ए.एच.) पाठ्यक्रम वर्ष 2018-19 में प्रवेश के लिए राजस्थान प्री-वेटरनरी टेस्ट-2018 का आयोजन 10 जून को किया जाएगा। वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बी.आर. छीपा ने बुधवार को कुलपति सचिवालय में आर.पी.वी.टी. के आयोजन बाबत डीन-डायरेक्टर और परीक्षा पर्यवेक्षकों और सहायक पर्यवेक्षकों की बैठक में उचित दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्रों पर पूरी निगरानी और सुरक्षित परीक्षा के लिए आपसी समन्वय जरूरी है। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर निगरानी के लिए विश्वविद्यालय द्वारा पर्यवेक्षक और सहायक पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए टेस्ट का आयोजन बीकानेर के साथ-साथ जयपुर शहर के निर्धारित केन्द्रों पर किया जाएगा। आर.पी.वी.टी. का समय प्रातः 10 बजे से अपरान्ह 1 बजे तक रहेगा। इसके लिए 39 परीक्षा केन्द्र निर्धारित किये गए हैं जिसमें से जयपुर शहर में 22 और बीकानेर शहर में 17 केन्द्र शामिल हैं। आर.पी.वी.टी. समन्वयक प्रो. हेमन्त दाधीच ने बताया कि सभी अभ्यर्थियों को आॅनलाइन प्रवेश पत्र जारी किये गए हैं। परीक्षार्थियों को प्रातः 9ः30 बजे तक ही परीक्षा केन्द्र में प्रवेश दिया जायेगा। इसके पश्चात् प्रवेश नहीं दिया जायेगा। परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र के साथ मूल फोटो आई.डी. प्रूफ साथ लाना आवश्यक होगा। परीक्षा में विश्वविद्यालय की ओर से काला बाॅल पेन उपलब्ध करवाया जाएगा। सभी केन्द्राधीक्षकों को परीक्षा के सफल आयोजन बाबत निर्देश प्रदान कर दिए गए हैं। आर.पी.वी.टी. के सफल आयोजन के लिए प्रत्येक परीक्षा केन्द्रों पर पर्यवेक्षकों और केन्द्रों के आकस्मिक निरीक्षण के लिए उड़न दस्तों का गठन किया गया है। परीक्षा हेतु निर्धारित नियमों के अनुसार अभ्यर्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रवेश दिया जाएगा। परीक्षा केन्द्र में मोबाइल फोन या अन्य सामग्री एवं इलेक्ट्रोनिक उपकरणों का लाना सर्वथा वर्जित रहेगा। वेटरनरी काॅलेज के कार्यवाहक अधिष्ठाता प्रो. ए.पी. सिंह ने उचित परामर्श प्रदान किया।

निदेशक