वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिए डाइयां गांव की महिलाओं को स्वरोजगार प्रशिक्षणः पशु उप स्वास्थ्य केन्द्र शुरू

क्रमांक 1724                                                                                             11 सितम्बर, 2017

वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिए डाइयां गांव की महिलाओं को स्वरोजगार प्रशिक्षणः पशु उप स्वास्थ्य केन्द्र शुरू

बीकानेर, 11 सितम्बर। वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिए डाइयां गांव की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्वरोजगार के प्रशिक्षण कार्यक्रम बीकानेर प्रौढ़ शिक्षण समिति और गृह विज्ञान महाविद्यालय के सहयोग से शुरू किये जायेंगे। सोमवार को वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बी.आर. छीपा की अध्यक्षता में डाइयां की जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक में इस आशय का निर्णय किया गया। कुलपति प्रो. छीपा ने कहा कि गांव की महिलाओं की जरूरतों और संसाधनों की स्थिति के पूर्व आंकलन के बाद स्वरोजगार कौशल प्रशिक्षण शुरू किये जाए। उन्होंने कहा कि गांव में चिकित्सा और आयुर्वेद चिकित्सा शिविरों में मौसमी और संक्रामक बीमारियों के लक्षण और बचाव उपायों के बारे में भी जागरूक किया जाए। उन्होंने बताया कि गांव में आयुर्वेदिक औषधालय खोलने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवाया जाएगा। वेटरनरी विश्वविद्यालय की पहल पर डाइयां में पशुपालन विभाग द्वारा पशुचिकित्सा उपकेन्द्र स्थापित किया गया है। डाइयां में तालाब निर्माण के लिए वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा 11.73 लाख रू. राशि और जिला परिषद द्वारा नरेगा में 9 लाख रू. राशि स्वीकृत की गई है। कुलपति प्रो. छीपा ने ग्रामीणों को मरूस्थलीय फल-सब्जी उत्पादन के लिए केन्द्रीय शुष्क बागवानी संस्थान से अच्छी किस्म के बीज व पौधों से बागवानी के लिए प्रेरित करने को कहा। डाइयां में राजुवास द्वारा अजोला प्रशिक्षण और प्रदर्शन और आयुर्वेद विभाग द्वारा आयुर्वेद चिकित्सा और जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जाएगा। वेटरनरी महाविद्यालय के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने बताया कि डाइयां को जयमलसर से सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए 8 किमी. लिंक रोड़ का प्रस्ताव राज्य सरकार के विचाराधीन है। बैठक में राजुवास के अनुसंधान निदेशक प्रो. राकेश राव, प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. ए.पी. सिंह, निदेशक क्लिनिक्स प्रो. जे.एस. मेहता, कुलपति के प्रशासनिक सचिव प्रो. बी.एन. श्रृंगी, निदेशक (कार्य) एम. राम सहित दीपक बंसल अधीक्षण अभियंता जन स्वा. अभियांत्रिकी विभाग, लक्ष्मण सिंह सार्वजनिक निर्माण विभाग, जिला उद्योग अधिकारी सुरेन्द्र कुमार, अविनाश भार्गव बीकानेर प्रौढ़ शिक्षण समिति, डाॅ. जीतेन्द्र सिंह आयुर्वेद विभाग सहित अन्य अधिकारीगणों ने भाग लिया। डाइयां गांव के राजुवास नाॅडल आॅफिसर डाॅ. नीरज कुमार शर्मा ने प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ