वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा आडसर में 48 पशुपालकों को उन्नत पशुपोषण का प्रशिक्षण

क्रमांक 201                                                                                                                                  9 जनवरी, 2019

वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा आडसर में 48 पशुपालकों को उन्नत पशुपोषण का प्रशिक्षण

बीकानेर, 9 जनवरी। वेटरनरी विश्वविद्यालय के पशुधन चारा संसाधन प्रबन्धन एवं तकनीक केन्द्र द्वारा लूणकरनसर के आडसर ग्राम में बुधवार को एक दिवसीय पशुपालक प्रषिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। केन्द्र के प्रमुख अन्वेषक डाॅ. दिनेष जैन ने बताया कि उन्नत पशुपोषण एवं हरा चारा उत्पादन विषय पर आयोजित प्रशिक्षण में 48 किसान व पशुपालकों ने भाग लिया। उन्होंने बताया कि पषुओं से अधिक उत्पादन लेने के लिए पशु पोषण का उचित प्रबन्धन जरूरी है। पषु आहार में हरे चारे का महत्व है, अतः किसान भाइयों को वर्ष भर चारे की उपलब्धता बनाए रखने लिये हरे चारे के उत्पादन के साथ ही इसको साइलेज बना कर संरक्षित करना चाहिए। प्रषिक्षण शिविर में केन्द्र के विषेषज्ञ श्री दिनेष आचार्य एवं श्री महेन्द्र सिंह मनोहर ने हरा चारा उत्पादन, अजोला उत्पादन तकनीक, हरे चारे के संरक्षण की सायलो बैग तकनीक तथा यूरिया मोलासिस मिनरल ब्लाॅक तकनीक के बारे में पशुपालकों को विस्तार पूर्वक जानकारी दी।

सह-समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ