वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पोन्सीबिलिटी के तहत कोरोना बचाव व नियंत्रण शिविर का आयोजन

वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा
यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पोन्सीबिलिटी के तहत कोरोना
बचाव व नियंत्रण शिविर का आयोजन

बीकानेर, 18 जून। वेटरनरी विष्वविद्यालय द्वारा यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पोन्सीबिलिटी (यू.एस.आर.) के तहत गोद लिए गांव जयमलसर में गुरूवार को कोरोना बचाव एवं नियंत्रण शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर के अर्न्तगत ग्रामवासियों को काढ़ा पिलाया गया और मास्क वितरित कर सार्वजनिक भवनों को सैनेटाइज किया गया। ग्राम पंचायत भवन में आयोजित शिविर में वेटरनरी विश्वविद्यालय कुलसचिव अजीत सिंह राजावत ने काढ़ा पिलाकर शिविर का शुभारंभ किया। इस अवसर पर कुलसचिव राजावत ने ग्रामवासियों को कारोना महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरी बनाए रखकर बचाव उपायों को गंभीरता से अपनाने का आह््वान किया। वेटरनरी विश्वविद्यालय के प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. आर.के. धूड़िया ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोविड-19 महामारी के प्रति जागरूकता लाने के लिए इस शिविर का आयोजन किया गया है। प्रो. धूड़िया ने बताया कि गांव के पंचायत भवन, विद्यालय भवन, प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र सहित प्रमुख चौपालों को कोरोना से बचाव के मद्देनजर सैनेटाईज कर ग्रामीणों को जागरूक किया गया। शिविर के दौरान साबुन और मास्क का वितरण भी किया गया। आयुर्वेद अधिकारी डॉ. अशोक गर्ग और टीम ने सामाजिक दूरी बनाए रख कर लगभग 500 बच्चों, महिलाओं, युवाओं और बुजुर्गों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काढ़ा पिलाया। इस कार्य में ग्राम पंचायत द्वारा सहयोग किया गया। इस अवसर पर पंचायत समिति के विकास अधिकारी भोमसिंह इंदा, पंचायत की ग्राम विकास अधिकारी शकुंतला यादव, पूर्व सरपंच पवन रामावत, गोविन्द सिंह भाटी, प्रभु सिंह सहित जयमलसर गांव के प्रबुद्धजन मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन राजुवास के ग्राम समन्वयक डॉ. नीरज शर्मा ने किया। इसके बाद विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने गांव के तालाब क्षेत्र के जीर्णोद्धार के लिए साईट का निरीक्षण भी किया।