वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति का कार्यभार प्रो. बी.आर. छीपा ने संभाला, राज्यपाल ने जारी किये आदेश

क्रमांक 1664                                                                                               28 जून, 2017

वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति का कार्यभार प्रो. बी.आर. छीपा ने संभाला
राज्यपाल ने जारी किये आदेश

बीकानेर, 28 जून 2017। राजस्थान पशुचिकित्सा और पषु विज्ञान विश्वविद्यालय, बीकानेर के कुलपति का कार्यभार आज 28 जून को स्वामी केशवानन्द राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय, बीकानेर के कुलपति प्रो. बी.आर. छीपा ने संभाल लिया। राज्यपाल, राजस्थान एवं कुलाधिपति के मंगलवार को जारी आदेष के अनुसार प्रो. ए.के. गहलोत, कुलपति, राजस्थान पषुचिकित्सा एवं पषु विज्ञान विष्वविद्यालय, बीकानेर का कार्यकाल दिनांक 28 जून 2017 को पूर्ण होने के कारण यह कार्यभार प्रो. बी.आर. छीपा, कुलपति, स्वामी केषवानन्द राजस्थान कृषि विष्वविद्यालय, बीकानेर को नियमित कुलपति की नियुक्ति होने तक अथवा अग्रिम आदेषों तक, जो भी पहले हो, अस्थाई व्यवस्था अन्तर्गत अतिरिक्त प्रभार के रूप में दिया गया है। विश्वविद्यालय फैकल्टी क्लब की ओर से बुधवार को प्रो. ए.के. गहलोत का अभिनन्दन किया गया। इस अवसर पर कुलपति प्रो बी.आर. छीपा ने पशुचिकित्सा के क्षेत्र में किए कार्यों को प्रो. ए.के. गहलोत के व्यक्तिव, कार्यशैली और जीवंत सम्पर्कों का परिणाम बताया। उन्होंने राजुवास के वर्तमान स्वरूप को प्राप्त करने में प्रो. गहलोत की क्षमता, दिशा-निर्देशन और वीजन को महत्वपूर्ण बताया। इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए निवर्तमान कुलपति प्रो. गहलोत ने कहा कि विश्वविद्यालय ने अपनी स्थापना के 7 वर्षों में राजुवास टीम की और से किये गए उत्कृष्ट कार्यों की बदौलत राज्य सरकार ने उन्हें कार्य करने का अवसर दिया है। सभी को मिलजुल कर राजुवास की वर्तमान गति को बनाए रखकर तरक्की में अपना योगदान देना है। राजुवास ने इसके लिए वर्ष 2025-50 का रोड मैप तैयार कर कार्य शुरू किया है। कुलसचिव बी.आर. मीणा, अधिष्ठाता प्रो. जी.एस. मनोहर एवं फैकल्टी क्लब अध्यक्ष प्रो. राधेश्याम आर्य ने कुलपति प्रो. गहलोत के कुशल नेतृत्व में राजुवास की प्रगति में उनके योगदान की चर्चा कर सभी का आभार जताया। फैकल्टी क्लब के सदस्यों ने एक-एक कर माल्र्यापण कर साफा पहनाकर निवर्तमान कुलपति प्रो. गहलोत का अभिनन्दन किया। फैकल्टी क्लब के सचिव डाॅ. प्रवीण बिश्नोई ने धन्यवाद ज्ञापित किया। डाॅ. अनिल बिश्नोई ने कार्यक्रम का संचालन किया। इस अवसर पर कृषि विश्वविद्यालय एवं राजुवास के डीन, डायरेक्टर, शिक्षक, कर्मचारी और विद्यार्थी बडी़ संख्या में उपस्थित थे।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ