वेटरनरी यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पांसिबिलिटी जयमलसर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन

वेटरनरी यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पांसिबिलिटी
जयमलसर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन

बीकानेर, 9 मार्च। वेटरनरी यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत सोमवार को गोद लिए गांव जयमलसर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में ग्रामीण पशुपालन महिलाओं और राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों ने शिरकत की। नोडल अधिकारी एवं प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. राजेश कुमार धूड़िया ने बताया कि संगोष्ठी की अध्यक्षता सरपंच भंवरी कंवर ने की। इस अवसर पर वेटरनरी विश्वविद्यालय की प्रो. उर्मिला पानू ने बालिका शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए घर के सभी बच्चों को विद्यालय में भेजने का आह्वान किया। डॉ. रजनी जोशी ने कन्या भ्रण हत्या के प्रति महिलाओं को सतर्क करते हुए कहा कि यह एक गंभीर अपराध है अतः महिलाओं को इसकी रोकथाम के लिए आगे आना होगा। डॉ. दीपिका धूड़िया ने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनने के लिए हर संभव प्रयास करने चाहिए। ग्रामीण महिलाएं पशुपालन से संबंधित छोटे-मोटे आय अर्जित करने के कार्य घर या गांव में ही कर सकती हैं। डॉ. प्रतिष्ठा शर्मा, डॉ. रूचि मान, डॉ. मनीषा मेेहरा, डॉ. गरिमा चौधरी एवं डॉ. रितु शर्मा ने महिलाओं को स्वास्थ्य, टीकाकरण व संतुलित पोषण के तौर-तरीकों से अवगत करवाया। छात्रा कनक रत्नू ने प्रेरणादायी कविता प्रस्तुत की। इस अवसर पर महिला पशुपालकों को वेटरनरी विश्वविद्यालय की ओर से पशुओं के लिए खनिज लवण वितरित किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. नीरज कुमार शर्मा ने किया। गांव के मदन सिंह और कृपाल दान भी सहयोगी रहे।