वेटरनरी काॅलेज में “स्पिरीट-2017” का हुआ आगाज खेलकूद से आपसी सद्भाव और अनुशासन की सीख मिलती हैः संसदीय सचिव डाॅ. मेघवाल

क्रमांक 1791 5 दिसम्बर, 2017

वेटरनरी काॅलेज में “स्पिरीट-2017” का हुआ आगाज
खेलकूद से आपसी सद्भाव और अनुशासन की सीख मिलती हैः संसदीय सचिव डाॅ. मेघवाल

बीकानेर, 5 दिसम्बर। वेटरनरी विश्वविद्यालय के इन्टर क्लास टूर्नामेन्ट का सप्ताह “स्पिरीट-2017“ मंगलवार से प्रारम्भ हो गया। राजस्थान सरकार के संसदीय सचिव डाॅ. विश्वनाथ मेघवाल ने बालीबाॅल के उद्घाटन मैच में खिलाडियों का परिचय प्राप्त कर यू.जी. हाॅस्टल मैदान में ’बाॅल’ को शूट कर खेलकूद सप्ताह का शुभांरभ किया। इस अवसर पर डाॅ. मेघवाल ने कहा कि खेल की भावना से खेलने वाले खिलाड़ी अपने जीवन में भी सफल रहते हैं। खेलकूद से आदमी सद्भाव, अनुशासन की सीख मिलती है। वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने बताया कि इन खेलकूद प्रतियोगिताओं के आधार पर श्रेष्ठ खिलाड़ियों से विश्वविद्यालय टीम का गठन किया जाएगा जो राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित टूर्नामेन्ट में भाग लेगी। उद्घाटन सत्र का पहला फ्रेंडली मैच विद्यार्थियों और विश्वविद्यालय स्टाफ के बीच खेला गया। इसमें वित्त नियंत्रक अरविन्द बिश्नोई सहित डाॅ. प्रवीण बिश्नाई, डाॅ. एस.के. झीरवाल, डाॅ. नरेन्द्र सिंह राठौड़ सहित अन्य सहायक प्राध्यापकों ने अपनी खेल प्रतिभा का परिचय दिया। मंगलवार को वाॅलीबाॅल का पहला मुकाबला स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष और स्नातक अंतिम वर्ष की टीमों के बीच खेला गया। स्नातकोत्तर की टीम ने प्रतिद्वंदी टीम को शिकस्त देकर अगले राउण्ड में प्रवेश कर लिया। पहले दिन वाॅलीबाॅल के अन्य मुकाबलों में स्नातक चतुर्थ वर्ष ने द्वितीय वर्ष को ए.एच.डी.पी. प्रथम वर्ष ने स्नातक प्रथम वर्ष को, स्नातक तृतीय वर्ष ने ए.एच.डी.पी. द्वितीय वर्ष को हराया तथा छात्रा समूह में चतुर्थ वर्ष स्नातक ने तृतीय वर्ष को परास्त किया और स्नातक द्वितीय ने प्रथम वर्ष को हराकर अगले राउण्ड में प्रवेश किया। बास्केटबाॅल महिला में स्नातक तृतीय वर्ष ने प्रथम वर्ष को हराकर अगले राउन्ड में पहुँच गई। महाविद्यालय के खेलकूद प्रभारी डाॅ. प्रवीण पिलानियां ने बताया कि ’स्पिरीट-2017’ के तहत वाॅलीबाॅल, बास्केटबाॅल, फुटबाॅल, क्रिकेट, लाॅन टेनिस, कब्बडी, टेबल-टेनिस, बैडमिंटन, शतरंज और एथलीट के मुकाबले होंगे। उद्घाटन अवसर पर अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा, वित्त नियंत्रक अरविन्द बिश्नोई सहित विश्वविद्यालय के डीन-डायरेक्टर, फैकल्टी सदस्य और छात्र/छात्राएं बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

निदेशक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ