वेटरनरी काॅलेज में स्पिरीट-2019 का पुरस्कार वितरण के साथ समापन विद्यार्थियों के कौशल विकास के लिए विशेष कार्यक्रम लागू होगा: कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा, पाठ्येत्तर प्रवृर्तियों से शैक्षणिक कुशलता में वृद्धि होती है: महानिरीक्षक जोस मोहन

क्रमांक 337                                                                                                             30 नवम्बर, 2019

वेटरनरी काॅलेज में स्पिरीट-2019 का पुरस्कार वितरण के साथ समापन
विद्यार्थियों के कौशल विकास के लिए विशेष कार्यक्रम लागू होगा: कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा
पाठ्येत्तर प्रवृर्तियों से शैक्षणिक कुशलता में वृद्धि होती है: महानिरीक्षक जोस मोहन

बीकानेर, 30 नवम्बर। वेटरनरी काॅलेज के खेलकूद और सांस्कृतिक सप्ताह “स्पिरीट 2019” का शनिवार को बीकानेर रैंज के पुलिस महानिरीक्षक श्री जोस मोहन के मुख्य आतिथ्य मंे समापन हो गया। वेटरनरी विष्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने समारोह की अध्यक्षता की। इस समारोह में सप्ताह के दौरान आयोजित विभिन्न खेल-कूद, साहित्यिक और सांस्कृति प्रतियोगिता के विजेताओं को प्रतीक चिन्ह् और प्रषस्ति-पत्र देकर सम्मनित किया गया। इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक जोस मोहन ने कहा कि खेलकूद और पाठ्येत्तर प्रवृर्तियों से शैक्षणिक दक्षता में वृद्धि की जा सकती है। ऐसी गतिविधियों का जीवन पर्यन्त कैरियर पर प्रभाव बना रहता है। उन्होंने कहा कि छात्र जीवन में सफलता के लिए अच्छी आदतें, स्व-अनुषासन और कड़ी मेहनत व लगन के साथ जीवन मूल्यों की आवष्यकता जरूरी है। महानिरीक्षक ने विद्यार्थियों से कहा कि अपने साथियों व खासतौर पर महिलाओं के प्रति सम्मान और सद्नागरिकता के साथ यातायात नियमों की पालना पर विषेष ध्यान देना चाहिए। इस अवसर पर वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने कहा कि विष्वविद्यालय के चहुंमुखी विकास के लिए शैक्षणिक गतिविधियों के साथ-साथ पशुधन ज्ञान में अभिवृद्धि और कौशल विकास (लाईक) का कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। यह कार्य फैकल्टी की सहायता से लागू करके विद्यार्थियों की व्यवसायिक कुषलता बढाई जाएगी। कुलपति प्रो. शर्मा ने कहा कि लिखित और मौखिक दक्षता के साथ संप्रेषण कला में पांरगत होना पूरे जीवन में लाभकारी सिद्ध होता है। पषुचिकित्सा षिक्षा के विद्यार्थियों ने अन्य अखिल भारतीय स्तर को प्रतियोगिताओं में भी अपनी उपयोगिता को सिद्ध किया है। छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. एस.सी. गोस्वामी ने बताया कि छात्रों के व्यक्तित्व विकास और भाषाई दक्षता के लिए राजुवास में नियमित गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है। वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. राकेष राव ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए विष्वास व्यक्त किया कि सभी विद्यार्थी एक सद्नागरिक के रूप में अपने सामाजिक दायित्वों के लिए वचन बद्ध हैं। समारोह में महाविद्यालय की छात्राओं ने मराठी, हरियाणवी सामूहिक और राजस्थानी लोकनृत्य की मनभावन प्रस्तुतियों से सबका मन मोह लिया। खेलकूद प्रभारी डाॅ. प्रवीण पिलानिया ने बताया कि महाविद्यालय में स्पिरीट-2019 के तहत आयोजित प्रतियोगिता में जनरल चैम्पियनषिप अंतिम वर्ष स्नातक के विद्यार्थियों ने हासिल की। सदानंद को पुरूष वर्ग और कंचन सारस्वत व उषा को महिला वर्ग में ‘बेस्ट एथलीट‘ घोषित किया गया। समारोह में राजुवास के कुलसचिव अजीत सिंह राजावत, वित्तनियंत्रक अरविंद विशनोई सहित डीन-डाॅयरेक्टर, कुलपति के विषेषाधिकारी, फैकल्टी सदस्य सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे।

सह-समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ

No.: 34/2019                                                                                                     Date: 02.12.2019

पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में खेलकूद एवं सांस्कृतिक
सप्ताह का रंगारंग समापन

जयपुर, 02 दिसम्बर। स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पी.जी.आई.वी.ई.आर.), जयपुर में दिनांक 25 नवम्बर से 01 दिसम्बर, 2019 तक आयोजित ’’खेलकूद एवं सांस्कृतिक सप्ताह 2019-20’’ का समापन समारोह सोमवार को आयोजित किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में जयपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक डाॅ. एस. संेगाथिर मौजूद रहे तथा राजुवास के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने समारोह की अध्यक्षता की। इस अवसर पर राजुवास की प्रथम महिला प्रो. संजीता शर्मा भी मौजूद रही। कार्यक्रम में विभिन्न खेलकूद और सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार तथा प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर डाॅ. एस. संेगाथिर ने अपने संबोधन में कहा कि खेलकूद और सांस्कृतिक प्रतिस्पर्धाएं हमारे छात्र जीवन में अहम् भूमिका निभाते हैं तथा हमें अपने लक्ष्य प्राप्ति की ओर अग्रसर होने में सहायता करते हैं। जीवन में सफलता के मंत्रांे की चर्चा करते हुए उन्होंने बताया कि किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिये कड़ी मेहनत, निष्ठा तथा रूचि आवष्यक स्तम्भ हैं। राजुवास के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने अपने उद्बोधन में बताया कि इस वर्ष विश्वविद्यालय के तीनों संघठक महाविद्यालयों में खेलकूद एवं सांस्कृतिक सप्ताह का आयोजन एक साथ किया गया। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिये विश्वविद्यालय जल्द ही व्यवसायिक उद्यमिता पषुधन कौषल विकास केन्द्र स्थापित करने जा रहा है जो विद्यार्थियों के नवीनतम कल्पनाओं को परिश्रकृत कर उन्हें स्व-रोजगार के लिये प्रेरित करेंगे। आजकल पषुचिकित्सकों की जरूरत सिर्फ पषुओं के चिकित्सा तक न सीमित रहकर अन्य क्षेत्रों में भी हो रही है। इसलिये हमें चाहिये कि कड़ी मेहनत करके इन विभिन्न क्षेत्रों में प्रवेष करें तथा पषुधन एवं पषुपालकों के विकास के लिये कार्य करें। संस्थान के अधिष्ठाता प्रो. जी.सी. गहलोत ने इस सप्ताह के सफल आयोजन के लिये विद्यार्थियों, संबंधित प्रभारियों तथा सभी शैक्षणिक एवं अषैक्षणिक कर्मचारियों को बधाई दी। उन्होंने इच्छा जताई कि विद्यार्थी इस तरह की गतिविधियों को इस सप्ताह तक ही ना सीमित रख कर पूरे वर्ष भर अपनी भागीदारी निभायेंगे और विश्वविद्यालय तथा अन्य स्तरों पर अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन कर इस संस्थान का नाम रौशन करेंगे। इस पूरे साप्ताहिक कार्यक्रम में संकाय सदस्यों, कर्मचारियों तथा विद्यार्थियों ने बड़ी संख्या में भागीदारी निभाई। संस्थान के खेलकूद प्रभारी डाॅ. निर्मल कुमार जेफ ने बताया कि खेलकूद के स्पर्धाओं में 100 मी. दौड़ में निखिल पाल बाजिया तथा रोनक चैधरी, 200 मी. दौड़ में निखिल पाल बाजिया तथा सोनू, 400 मी. दौड़ में पंकज कुमार तथा पूजा, 800 मी. दौड़ में रूपेष भडाना तथा किरनप्रीत खाड़िया, लम्बी कूद में पुषेन्द्र नेनोमा तथा कविता मीणा, जेवलिन थ्रो में पुष्पेन्द्र नेनोमा तथा मोनिका नीनमा, शाॅट-पुट में दषरथ खेमेडा तथा मोनिका नीनमा और डिस्कस थ्रो में दषरथ खेमेड़ा तथा किरणप्रीत खाड़िया पुरूष तथा महिला वर्ग में क्रमषः प्रथम स्थान पर रहे। पुरूषों के 1500 मी. दौड में पुष्पेन्द्र सिंह ने बाजी मारी। चार गुणा 100 मी. दौड़ तथा खो-खो के पुरूष वर्ग में स्नातक द्वितीय वर्ष और महिला वर्ग में स्नातक तृतीय वर्ष विजयी रहा। रस्सा-कसी के पुरूष तथा महिला दोनों वर्गो में स्नातक तृतीय वर्ष ने बाजी मारी। बाॅलीबाॅल में स्नातक द्वितीय तथा प्रथम वर्ष, कैरम में चतुर्थ तथा प्रथम वर्ष, शतरंज में द्वितीय तथा प्रथम वर्ष, बैडमिन्टन में स्नातकोत्तर तथा प्रथम वर्ष और कबड्डी में पंचम तथा तृतीय वर्ष पुरूष तथा महिला वर्ग में क्रमषः प्रथम स्थान पर रहे। टेबल-टेनिस के पुरूष तथा महिला मुकाबलों में स्नातक चतुर्थ वर्ष ने बाजी मारी। क्रिकेट के पुरूष मुकाबलों में स्नातक द्वितीय वर्ष की टीम विजयी रही।
सांस्कृतिक समन्वयक डाॅ. भावना राठौड़ ने बताया कि रंगोली, पेन्टिंग तथा क्ले माॅडलिंग में मोनिका चैधरी, मेहन्दी में श्वेता शर्मा, पोस्टर में भाविका भाटी तथा मोनिका चैधरी, कोलाज में कोमल चंदेल, कार्टूनिंग में भाविका भाटी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। एकल नृत्य में नीषा वर्मा, एकल गीत में सोनाली शेरावत, युगल नृत्य में नुपुर पाण्डे तथा श्वेता शर्मा, मोनो एक्टिंग में विजेन्द्र टाक प्रथम स्थान पर रहे। समूह नृत्य में मालविका, रोनक, दिशा तथा चन्द्रावल, देशभक्ति समूह गीत में सोनाली, दिशा तथा मोनिका, स्कीट में जयन्त, गजानंद, हर्ष प्रभा, रोनक, मालविका तथा चन्द्रावल एवं प्रसनोंत्तरी में ब्रिजेन्द्र, विरेन्द्र, राजदीप तथा दिनेष की टीमें विजयी रही। साहित्यिक समन्वयक डाॅ. मोनिका करनानी ने बताया कि वाद-विवाद में मीनू चैधरी, एक्सटेम्पोर में तमन्ना अग्रवाल एवं भाषण में साक्षी पूनिया प्रथम रहे। कार्यक्रम के अन्त में संस्थान के सहायक अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. वाई.पी. सिंह ने सभी आगन्तुकों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

अधिष्ठाता