वेटरनरी काॅलेज, नवानियां में राष्ट्रीय सम्मेलन का आगाज

क्रमांक 164                                                                                             13 दिसम्बर, 2018

वेटरनरी काॅलेज, नवानियां में राष्ट्रीय सम्मेलन का आगाज

उदयपुर, 13 दिसम्बर। वेटरनरी काॅलेज नवानियां, वल्लभनगर (उदयपुर) में पशुचिकित्सा विज्ञान एंव जैव तकनीकी सोसायटी के संयुक्त तत्वावधान में दो दिवसीय वैज्ञानिक राष्ट्रीय सम्मेलन का गुरूवार को शुभारभ्ंा हो गया। कार्यक्रम का आगाज सरस्वती दीप प्रज्जवलन तथा राजुवास गीत से हुआ । उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि प्रो. उमाशंकर शर्मा, कुलपति, महाराणा प्रताप कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, उदयपुर ने अपने उद्बोधन में कहा कि पशुपालन का देश के सकल घरेलू उत्पाद में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने बताया कि किसान व पशुपालकों की आय को दोगुना करने के लिये खेती-बाड़ी तथा पशुपालन को एकीकृत करके आगे बढ़ाना ही महत्वपूर्ण रणनीति होगी। उन्होंने बताया कि हमें जलवायु परिवर्तन का धनात्मक फायदा उठाने के लिये अनुसंधान करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम के विषिष्ट अतिथि प्रो. परमेन्द्र कुमार दशोरा, पूर्व कुलपति, कोटा विश्वविद्यालय, कोटा ने अपने उद्बोधन में मनुष्यांे तथा पशुआंे के बीच सह-सम्बन्धता पर विस्तार से चर्चा करते हुए बताया कि पशु उत्पादन के साथ-साथ पारिस्थितिकी संतुलन बनाये रखना भी अति आवश्यक है। इससे पूर्व महाविद्यालय के अधिष्ठाता प्रो. राजेश कुमार धूड़िया ने अतिथियों का माल्र्यापण, मेवाड़ी पाग एवं अर्पणा पहनाकार स्वागत किया तथा संक्षिप्त में महाविद्याालय की विभिन्न गतिविधियों पर प्रकाश डाला। सोसायटी के अध्यक्ष डाॅ. ए.जे. धामी ने सोसायटी की विभिन्न गतिविधियों और क्रियाकलापांे पर विस्तार से चर्चा की तथा प्रतिभागियों के उत्साहवर्धन हेतु पारितोषिक वितरण किया। डाॅ. धामी ने बताया कि जीवाणुआंे का प्रतिजैविकों के लिए प्रतिरोधी होना आज वैज्ञानिको के लिये सबसे बड़ी समस्या है, जिस पर काम करने की आवश्यकता है। इस मौके पर सम्मेलन में प्राप्त वैज्ञानिकों के सम्प्रेषण की सोविनियर का विमोचन किया। विभिन्न सत्रों में (पोस्टर तथा मौखिक) में कुल 60 अनुसन्धान पत्रों का वैज्ञानिकों द्वारा प्रदर्षन एंव वाचन किया गया। आयोजन सचिव डाॅ. एस.के. शर्मा ने सभी अतिथियांे, प्रतिभगियों एवं छात्र-छात्राओं का धन्यवाद ज्ञापित किया।

सह-समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ