वेटरनरी काॅलेज, नवानियाँ में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन 13-14 दिसम्बर को

क्रमांक 163                                                                                                                          12 दिसम्बर, 2018

वेटरनरी काॅलेज, नवानियाँ में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन
का आयोजन 13-14 दिसम्बर को

उदयपुर, 12 दिसम्बर। पशुचिकित्सा और पशु विज्ञान महाविद्यालय, नवानियाँ, वल्लभनगर, उदयपुर में पशुचिकित्सा विज्ञान एवं जैव तकनीकी सोसायटी के संयुक्त तत्वावधान में दिनांक 13 व 14 दिसंबर 2018 को ‘‘पशु स्वास्थ्य और उत्पादन में सुधार के लिए नवीन अवधारणाएं और दृष्टिकोण’’ विषय पर दो दिवसीय वैज्ञानिक सम्मेलन आयोजित किया जा रहा हैं। कार्यक्रम का उदघाटन दिनांक 13 दिसम्बर को महाविद्यालय परिसर नवानियां में सुबह 10 बजे आयोजित होगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रो. उमा शंकर शर्मा, कुलपति महाराणा प्रताप कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, उदयपुर तथा विशिष्ट अतिथि प्रो. परमेन्द्र दशोरा, पूर्व कुलपति कोटा विश्वविद्यालय, कोटा होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो. विष्णु शर्मा, कुलपति, राजस्थान पशुचिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, बीकानेर करेंगे। महाविद्यालय अधिष्ठाता प्रो. राजेश कुमार धूड़िया ने बताया कि देश के कृषि सकल घरेलु उत्पाद में पशुपालन के योगदान में निरन्तर बढ़ोतरी को देखते हुए इस दो दिवसीय वैज्ञानिक सम्मेलन में पशुओं के स्वास्थ्य और उत्पादन में सुधार के लिए नवीन अवधारणाओं और सम्भावनाओं पर मंथन कर वैज्ञानिक अनुशंसाएॅ राज्य सरकार एवं भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली को प्रेषित की जावेंगी। आयोजन सचिव डाॅ. एस. के. शर्मा ने बताया कि देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों से लगभग 200 वैज्ञानिक एवं पशु चिकित्सक इस सम्मेलन में भाग लेगंे। कार्यक्रम में वैज्ञानिकों द्वारा कुल छः सत्रों में शोधपत्र वाचन तथा पोस्टर अधिवेषन का आयोजन भी किया जायेगा। जिनके विषय क्रमशः पशु स्वास्थ्य और उत्पादन में सुधार की नवीन अवधारणाएं और दृष्टिकोण, पशुओं में रोग निदान एवं चिकित्सकीय सेवाओं का विकास, पशुधन तथा मुर्गीपालन के द्वारा किसानों की आय में वृद्वि आदि विषयों पर विस्तृत रूप से चर्चा की जायेंगी। अन्तिम सत्र में पशु वैज्ञानिकों, पशु चिकित्सकों, शोधार्थी छात्र व छात्राओं और पशुपालकों के मध्य पारस्परिक संवाद होगा।

सह-समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ