वेटरनरी काॅलेज की 36वीं बैच मीट : 35 पूर्व छात्र-छात्राओं ने 25 वर्ष पुरानी स्मृतियों को किया ताजा भवाई नृत्य से हुए अभिभूत

क्रमांक 180                                                                                                                    24 दिसम्बर, 2018

वेटरनरी काॅलेज की 36वीं बैच मीट शुरू
35 पूर्व छात्र-छात्राओं ने 25 वर्ष पुरानी स्मृतियों को किया ताजा
भवाई नृत्य से हुए अभिभूत

बीकानेर, 24 दिसम्बर। वेटरनरी महाविद्यालय के अल्यूमिनाई 25 वर्षों के बाद अपने परिवार जनों के साथ सजे-धजे ऊँटों की अगुवाई में साफों में बैंड बाजे की धुन पर सोमवार को महाविद्यालय पहुँचे। उनके परिजनों और बच्चों ने भी ठुमके लगाए। वेटरनरी काॅलेज के वर्ष 1989 स्नातक बैच के 35 पशुचिकित्सक, वैज्ञानिक, शिक्षक और पशुचिकित्सा व्यवसायी देश के कोने-कोने से वेटरनरी आॅडिटोरियम में एकत्रित हुए। अवसर था वेटरनरी विश्वविद्यालय अल्यूमिनाइ एसोसिएशन की दो दिवसीय मीट का जिसमें वे अपने छात्र जीवन की खोई हुई स्मृतियों में खोकर अपने परिजनों के साथ इंद्रधनुषीय यादों को ताजा किया। उद्घाटन सत्र के मुख्य अतिथि वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने कहा कि 25 वर्षाें के अंतराल बाद पुनः मिलना और स्मृतियों में लौटना भाव-विभोर करने वाला है। उन्होंने कहा कि यह महाविद्यालय समय के साथ एक विश्वविद्यालय में तब्दील हुआ और आज तीन महाविद्यालय 8 पशुधन अनुसंधान केन्द्र और 15 पशुचिकित्सा विश्वविद्यालय प्रषिक्षण एवं अनुसंधान केन्द्रों के साथ देश का ख्यातनाम संस्थान बना है। उन्होंने पूर्व विद्यर्थियों का आह्वान किया कि आत्म चिंतन के साथ पशु चिकित्सा व्यवसाय में सेवा का जज्बा रखते हुए अपनी योग्यता का परिचय दें। कुलपति प्रो. शर्मा ने कहा कि विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में आ रहे बदलावों के अनुकूल बनकर सामाजिक दायित्वों का निर्वाह आपका उद्देष्य होना चाहिए। वेटरनरी विश्वविद्यालय व्यावसायिक कुशलता और तकनीकी ज्ञान को बढ़ाने के लिए कौशल विकास कार्यक्रमों और पाठ्यक्रमों के मार्फत सहयोग के लिए हमेशा तत्पर है। समारोह के विशिष्ट अतिथि पशुपालन विभाग के अतिरिक्त निदेषक डाॅ. रणजीत सिंह ने भी सब के प्रति शुभकामनाएं प्रकट की। समारोह की अध्यक्षता करते हुए वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने एक षिक्षक के रूप बैच के साथ अपनी स्मृतियों का ताजा करते हुए उनकी सराहना की। वेटरनरी काॅलेज अल्यूमिनाई एसोसिएषन के अध्यक्ष डाॅ. आर.के. तंवर ने बैच मीट आयोजन के उद्देश्यों की जानकारी दी। बैच मीट के अध्यक्ष डाॅ. कमल व्यास ने स्वागत भाषण में 25 वर्षाें बाद मिले इस अवसर के लिए गुरूजनों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने जीवन में सफलता के लिए गुरूजनों के आषीर्वाद और दोस्तों के साथ को महत्वपूर्ण बताया। बैच मीट के विद्यार्थियों की ओर से कुलपति प्रो. शर्मा और अतिथियों ने महाािवद्यालय के शिक्षकों का शाॅल ओढा कर स्मृति चिन्ह प्रदान कर अभिनंदन किया। कुलपति प्रो. शर्मा और अतिथियों ने बैच मीट की स्मारिका का विमोचन किया तथा वेटरनरी अल्यूमिनाई एसोसिएषन की और से स्नातक परीक्ष में अव्वल वेटरनरी छात्र-छात्राओं को चार गोल्ड मेडल कर सम्मानित किया। अतिथियों ने स्नातक परीक्षा में प्रथम रही शाहिस्ता सरीन को डाॅ. बी.एल. बिश्नोई स्मृति गोल्ड मैडल, द्वितीय रहने वाली निष्ठा यादव को डाॅ. ज्योत्सना ओझा द्वारा अपने श्वान की याद में दूसरा गोल्ड मैडल प्रदान किया। काॅलेज के ही 30वें बैच की ओर से स्नातक परीक्षा में तृतीय स्थान पर रही नेहा शर्मा और 31वें बैच द्वारा स्नातक परीक्षा में अव्वल रही छात्रा के रूप में पूजा सोलंकी को गोल्ड मैडल प्रदान कर सम्मानित किया। बैच मीट के सचिव डाॅ. सुभाष जैन ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। ज्योति प्रकाश रंगा ने कार्यक्रम का संचालन किया। कार्यक्रम के अंत में पल्लवी पंवार द्वारा प्रस्तुत भवाई नृत्य की प्रस्तुति से सभी भाव-विभोर हो गए।

सह-समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ