विश्व जूनोटिक दिवस पर वेटरनरी विश्वविद्यालय व पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में निःशुल्क रेबीज शिविर में 63 श्वानों का हुआ टीकाकरण

क्रमांक 47                                                                                                                     6 जुलाई 2018

विश्व जूनोटिक दिवस पर वेटरनरी विश्वविद्यालय में निःशुल्क रेबीज शिविर में 63 श्वानों का हुआ टीकाकरण

बीकानेर 6 जुलाई। “वल्र्ड जूनोटिक डे“ के अवसर पर शुक्रवार को वेटरनरी विश्वविद्यालय की मेडिसिन क्लिनिक्स में निःशुल्क श्वान रेबीज टीकाकरण शिविर में 63 श्वानोें का टीकाकरण करके श्वानों को नए टोकन आंवटित किये गए। एक दिवसीय शिविर वेटरनरी काॅलेज और केनाइन वेलफेयर सोसाइटी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया। वेटरनरी क्लिनिक्स में इस विशेष चिकित्सा शिविर में बीमारियों से बचाव और जागरुक करने के लिए श्वान पालकों को मुद्रित साहित्य का वितरण किया गया। शिविर में केनाइन वेलफेयर सोसाइटी के सचिव प्रो. अनिल आहूजा, निदेषक क्लिनिक्स प्रो. जे.एस. मेहता, डाॅ. आर.के. तंवर, डाॅ. दीपिका धूडिया, डाॅ. सुनीता चैधरी, डाॅ. सीताराम गुप्ता, डाॅ. जे.पी. कच्छावा, डाॅ. नजीर सहित पीएच.डी. विद्यार्थी डाॅ. सविता, डाॅ. राजेन्द्र यादव, डाॅ. ताराचंद और स्नातकोत्तर छात्रों में डाॅ. तुषार, डाॅ. योगेन्द्र, शिवांगी, डाॅ. सुरेन्द्र कोली, डाॅ. रामचन्द्र, डाॅ. जितेन्द्र सहारण और डाॅ. राकेश कुमार ने शिविर में सेवाएं प्रदान की। विश्व जूनोटिक दिवस पर वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने बताया कि पशुओं से मनुष्य में फैलने वाली बीमारियों को जूनोटिक रोग कहा जाता है। इनमें रेबीज, ब्रूसेलोसिस, क्यूटेनियस लिसमैनियसिस, प्लेग, टी.बी., टिक पैरालाइसिस, गोल कृमि, साल्मोनिलोसिस जैसी बीमारियां शामिल हैं। इनमें कई बीमारियां प्राणघातक होती हैं परन्तु समय पर उपचार से बचाव किया जा सकता है। समय पर टीकाकरण से इनको रोका जा सकता है।

पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में विश्व जूनोसिस दिवस के अवसर पर निःशुल्क रेबीज़ टीकाकरण शिविर का आयोजन

जयपुर, 07 जुलाई। स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पी.जी.आई.वी.ई.आर.), जयपुर में विष्व जूनोसिस दिवस के अवसर पर 06.07.2018 को विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अन्तर्गत संचालित परियोजना ‘‘पशु-जन्य रोग निदान, निगरानी एवं प्रतिक्रिया केन्द्र’’ के द्वारा प्रातः 9.00 बजे से दोपहर 12.00 बजे तक निःषुल्क रेबीज़ टीकाकरण एवं विशेषज्ञ पषु चिकित्सकों के द्वारा निःशुल्क पशु स्वास्थ्य परीक्षण एवं पालतू पशुओं के रख-रखाव संबंधित जानकारी देने के लिए शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर का उद्घाटन संस्थान के अधिष्ठाता प्रो. (डाॅ.) विष्णु शर्मा के द्वारा किया गया। इस शिविर में परियोजना के मुख्य अन्वेषक एवं प्रभारी, वेटेरिनरी क्लिनिकल काॅम्पलेक्स डाॅ. धर्म सिंह मीना तथा संस्थान के अन्य संकाय सदस्य, छात्र छात्रायें एवं पषुधन सहायक उपस्थित रहे। इस शिविर में 40 से अधिक संख्या में श्वान, बिल्ली आदि पालतू पषुओं का टीकाकरण एवं स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इसके पष्चात् दोपहर में पषु जन्य रोग जागरूकता एवं इससे बचने के उपाय हेतु सेमीनार का आयोजन किया गया जिसमें 80 से अधिक विधार्थी एवं संकाय सदस्यों एवं पशुपालकों ने भाग लिया। इस सेमीनार में डाॅ. धर्म सिंह मीना ने पषुओं से होने वाली हानिकारक व घातक बीमारियों जैसे एन्थ्रेक्स, निपाह वायरस, ब्रुसेलोसिस, टी.बी., रेबीज़, टाईफाईड, सालमोनेल्लोसिस इत्यादि के बारे में जानकारी दी एवं इनसे बचने के उपायों से अवगत करवाया।

 

निदेशक