राजुवास व इससे संबद्ध महाविध्यालयों मे 72वां स्वाधीनता दिवस समारोह आयोजित

क्रमांक 74                                                                                                     16 अगस्त, 2018

 

72वां स्वाधीनता दिवस समारोह
वेटरनरी विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो. शर्मा द्वारा ध्वजारोहण कर सलामी
31 जनों को उत्कृष्ट कार्यों के लिए किया सम्मानित

बीकानेर, 16 अगस्त। 72वें स्वाधीनता दिवस पर वेटरनरी विश्वविद्यालय में बुधवार को आयोजित समारोह में कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने राजुवास में ध्वजारोहण कर सलामी दी। इस अवसर पर शैक्षणिक, अनुसंधान व प्रशासनिक क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवा और कार्यों के लिए कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने 31 जनों को प्रशस्ति पत्र व स्मृतिचिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमारे पूर्वजों के असीम त्याग और बलिदान के कारण आज देष एक महाषक्ति बन गया है। उन्होंने अमर शहीदों को श्रृद्धांजलि देते हुए कहा कि आज महापुरूषों के बलिदान और योगदान को अपने जीवन में उतारने का संकल्प दिवस है। उन्होंने कहा कि विष्वविद्यालय की सुदृढ़ मूलभूत संस्थाओं महाविद्यालय, पशुधन अनुसंधान व प्रषिक्षण एवं अनुसंधान केन्द्रों को अधिक सशक्त बनाने की जिम्मेवारी हैं। कुलपति प्रो. शर्मा ने शिक्षकों का आह्वान किया कि षिक्षण की गुणवत्ता के साथ ही नई शताब्दी के अनुकूल पाठ्य सामग्री तैयार कर उद्यमिता विकास के साथ नई पीढ़ी को तैयार करें। कुलपति ने जिलों में स्थापित प्रषिक्षण और अनुसंधान केन्द्रों द्वारा शोध को आम लोगों तक पहुँचाने के उपयोग में लिए जाने का आह्वान किया। विष्वविद्यालय पशुपालकों के उपयोगी सेवाओं को 10 वर्ष की कार्यकारी योजनाएं बनाकर लागू किया जाएगा। उन्होंने देश में राजुवास की उत्कृष्ट विष्वविद्यालय रैंकिंग, हैल्पलाइन सेवाओं, डिजीटलाइजेषन, देषी गो वंष के संरक्षण व संवर्द्धन, पशु चिकित्सकीय सेवाओं की सराहना की। विष्वविद्यालय की पशुचिकित्सा की विषेषज्ञ सेवाओं को राजकीय पशुचिकित्सालयों के साथ जोड़ने का भी संकल्प व्यक्त किया। तीन वर्ष बाद गणतंत्र दिवस की डायमण्ड जुबली समारोह मनाने से पूर्व राजुवास को समाज और देष में अपनी सषक्त भूमिका और योगदान के लिए तैयार करेंगे।
राजुवास के कुलपति प्रो. शर्मा ने उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए स्नातक बी.वी.एस.सी और ए. एच. अंतिम वर्ष 2017 की मेरिट में अव्वल रहे रोहित कुमार शर्मा, शाहिस्ता सरीन लोधी, रोहित जुनेजा, निष्ठा यादव, नेहा शर्मा, तथा विभिन्न सेवाओं में सम्मानित होने वाले डाॅ. अजीत सिंह महला, डाॅ. रंजीत सिंह गोदारा, डाॅ. सुभाष कुमार, डाॅ. अनुराग बी. आर्य, डाॅ. अमित, डाॅ. शब्द प्रकाष को सम्मानित किया।
कर्मचारीगणों में भूरा लाल, दाऊ लाल, दुर्ग सिंह, महेष सिंह, सफी मोहम्मद, और अर्जुन सिंह को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए राजुवास कुलपति द्वारा प्रषंसा पत्र दिये गये। फैकल्टी सदस्यों में उल्लेखनीय योगदान के लिए डाॅ. विरेन्द्र कुमार, डाॅ. तरूणा भाटी, डाॅ. शनवीर खातून, डाॅ. प्रदीप कुमार, डाॅ. मुकेष चन्द शर्मा, डाॅ. दिनेष मनोहरो चव्हान, डाॅ. चन्द्रशेखर सारस्वत, डाॅ. अषोक डांगी, और अखिल भारतीय स्तर पर संगठन चुनाव जीतने वाले प्रसार षिक्षा निदेषक प्रो. ए.पी. सिंह और प्रो. आर.के. धूड़िया को सम्मानित किया। कुलपति प्रो. शर्मा ने विश्वविद्यालय की बेस्ट आॅन कैम्पस यूनिट में आई.यू.एम.एस. सेन्टर के डाॅ. अषोक डांगी और काॅर्डिनेटर, एएचडीपी., बीकानेर के डाॅ. एल.एन. सांखला को शील्ड प्रदान कर सम्मानित किया।

राजुवास परिसर में वृक्षारोपण
स्वाधीनता दिवस समारोह के पश्चात् विष्वविद्यालय परिसर में आयोजित “हरियालो राजस्थान“ के तहत वृक्षारोपण कार्यक्रम में आंमत्रित अतिथियों में पूर्व मंत्री डाॅ. बी.डी. कल्ला, अरविन्द मिढ्ढा, मधुरिमा सिंह, मीना आसोपा, सुनील बाठिया, इनटेक के पृथ्वीराज रतनू, विद्यार्थियों, कर्मचारियों और अधिकारियों ने पौधारोपण किया। इस अवसर पर कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा, अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा, कुलसचिव प्रो. हेमन्त दाधीच, वित्त नियंत्रक अरविन्द बिश्नोई, प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. ए.पी. सिंह, छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. एस.सी. गोस्वामी, अनुसंधान निदेषक प्रो. आर.के. सिंह, पी.एम.ई. निदेशक प्रो.राकेश राव सहित फैकल्टी सदस्यों ने भी वृक्षारोपण किया।

पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में स्वतंत्रता दिवस समारोह

जयपुर, 15 अगस्त। स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पी.जी.आई.वी.ई.आर.), जयपुर में 72वें स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन किया गया। प्रो. (डाॅ.) संजीता शर्मा, अधिष्ठाता, पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर द्वारा संस्थान के मानसरोवर एवं जामडोली स्थित परिसर में झण्डारोहण किया गया। इस अवसर पर समस्त शैक्षणिक व अशैक्षणिक स्टाफ तथा छात्र-छात्राओं ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। संस्थान की अधिष्ठाता महोदय ने सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए अपने उद्बोधन में शहीदों की कुर्बानियों को नमन करते हुए आत्म-मंथन का दिन बताया। इस अवसवर पर अधिष्ठाता महोदया ने सभी को देष के विकास में योगदान देने का आह्वान किया। बहुत कम फैकल्टी होने के बावजूद भी संस्थान की उपलब्धियों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि उच्च मुकाम हासिल करने के लिये सतत् प्रकाषन, नये प्रोजेक्ट एवं कौषल विकास पर विषेष ध्यान दिया जाना चाहिये।
स्वतंत्रता दिवस के इस सुअवसर पर शैक्षणिक स्टाॅफ एवं विद्यार्थियों ने देष-भक्ति गीत प्रस्तुत किये। मंच का संचालन डाॅ. बरखा गुप्ता व कार्यक्रम डाॅ. वाई.पी. सिंह, सहायक अधिष्ठाता छात्र कल्याण के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। झण्डारोहण के पष्चात् संस्थान के अधिष्ठाता एवं समस्त स्टाफ द्वारा संस्थान परिसर में वृक्षारोपण का कार्यक्रम किया गया।

पशुचिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय, नवानियाँ में 72 वाँ स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास से मनाया 

15 अगस्त 2018: पशुचिकित्सा एवं पशुविज्ञान महाविद्यालय, नवानियाँ, वल्लभनगर, उदयपुर में 72 वाँ स्वतंत्र दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया । अधिष्ठाता प्रो. (डाॅ) राजेश कुमार धूड़िया ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया एवं उन्हांेने अपने सम्बोधन भाषण में स्वतंत्रता दिवस की महिमा एवं महाविद्यालय परिसर में चल रही परियोजनाओं तथा गतिविधियों से अवगत कराया एवं इतने कम समय में महाविद्यालय ने जो प्रगति की है उसका श्रेय संकाय सदस्यों, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों को दिया। प्रो. धूडिया ने ग्रामीण जनजीवन में पशुपालन के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पशुपालन मेवाड़ की ग्रामीण अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है। क्षैत्र में पशुचिकित्सा एवं पशुपालन तकनीकी के विस्तार में इस महाविद्यालय की विशेष भूमिका रहेगी। प्रो. धूडिया ने महाविद्यालय परिसर के यू. जी. हाॅस्टल के विस्तार, पी. जी. होॅस्टल के निर्माण, केन्टिन व शाॅपिंग काॅम्पलेक्स की सुविधा उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया। सभी शिक्षको एवं विद्यार्थियों से इस महाविद्यालय को देश का अग्रणी पशुचिकित्सा संस्थान बनाने में अपना योगदान देने का आह्वान किया। कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्रीय गान के गायन से हुआ। बेहतर प्रस्तुति देने वाले छात्र-छात्राओं को अधिष्ठाता द्वारा सम्मानित किया गया । इस अवसर पर कार्यक्रम में एन.सी.सी. के कमान अधिकारी कर्नल बसन्त बल्लेवार, अकादमिक समन्वयक डाॅ. एस. के. शर्मा, सहायक अधिष्ठाता (छात्र कल्याण) डाॅ. सुरेन्द्र सिंह शेखावत सहित सभी शैक्षणिक एवं गैरशैक्षणिक कर्मचारी एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे । मंच संचालन डाॅ. अभिषेक गौरव ने किया। इसके पश्चात् अधिष्ठाता महोदय एवं संकाय सदस्यों द्वारा महाविद्यालय में पौधारोपण किया गया। कार्यक्रम के अंत में उपस्थित सभी शैक्षणिक एवं गैरशैक्षणिक कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों को मिठाई का वितरण किया गया ।

निदेशक