राजुवास में अभिनंदन समारोह : सेवा और समर्पित भाव से किए गए कार्यों से समाज और देश की तरक्की संभवः कुलपति प्रो. छींपा

क्रमांक 1666                                                                                  30 जून, 2017

राजुवास में अभिनंदन समारोह
सेवा और समर्पित भाव से किए गए कार्यों से समाज और देश की तरक्की संभवः कुलपति प्रो. छींपा

बीकानेर, 30 जून। वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बी.आर. छींपा ने कहा है कि सेवा के समर्पित भाव और निष्ठा से किए गए कार्यों की बदौलत ही समाज और देष तरक्की कर सकता है। सेवा और कर्तव्यों का पालन ईश्वर की सेवा के बराबर है। वे राजुवास फैकल्टी क्लब द्वारा शुक्रवार को आयोजित एक अभिनंदन समारोह में मुख्य अतिथि रूप में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रशासन में सभी का कार्य और भूमिका महत्वपूर्ण होती है। किसी भी संस्थान के चहुँमुखी विकास के लिए सभी का साथ और सहयोग होना चाहिए। वेटरनरी आॅडिटोरियम में आयोजित समारोह में वेटरनरी महाविद्यालय के अधिष्ठाता पद का कार्यभार शुक्रवार को ही ग्रहण करने वाले प्रो. त्रिभुवन शर्मा और परीक्षा नियंत्रक पद संभालने पर प्रो. जी.सी. गहलोत का अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर फैकल्टी क्लब द्वारा निवर्तमान अधिष्ठाता प्रो. जी.एस. मनोहर और निवर्तमान परीक्षा नियंत्रक प्रो. एस.एस. सोनी का भी अभिनंदन कर उनकी सेवाओं को सराहा गया। समारोह में वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा, कुलसचिव बी.आर. मीणा, परीक्षा नियंत्रक प्रो. जी.सी. गहलोत और प्रो. जी.एस. मनोहर ने भी सम्बोधित किया। फैकल्टी क्लब के अध्यक्ष राधेश्याम आर्य ने स्वागत भाषण और क्लब के सचिव डाॅ प्रवीण बिश्नोई ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कुलपति प्रो. छींपा ने उन्हें सेवानिवृत परिलाभ और प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर डीन-डाॅयरेक्टर ओर फैकल्टी सदस्य मौजूद थे।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ