राजुवास को 12-बी में अधिस्वीकरण के लिए विश्वद्यालय अनुदान आयोग के निरीक्षण दल ने राजुवास के कार्यालयों, काॅलेज विभागों का किया अवलोकन

क्रमांक 65                                                                                 03 अगस्त, 2018

राजुवास को 12-बी में अधिस्वीकरण के लिए
विश्वद्यालय अनुदान आयोग के निरीक्षण दल ने
राजुवास के कार्यालयों, काॅलेज विभागों का किया अवलोकन

बीकानेर, 03 अगस्त। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा वेटरनरी विष्वविद्यालय को 12-बी में अधिस्वीकरण के लिए आयोग का 4 सदस्यीय निरीक्षण दल शुक्रवार को दो दिवसीय दौरे पर बीकानेर पहुँचा और राजुवास के विभिन्न विभागांे और कार्यालयों की कार्यप्रणाली का अवलोकन किया। आनंद कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एन.सी. पटेल की अध्यक्षता में दल के सदस्य रूप में नानाजी देषमुख पषुचिकित्सा विष्वविद्यालय जबलपुर के कुलपति प्रो. पी.डी. जुयाल, पषुचिकित्सा एवं पषु विज्ञान महाविद्यालय पंतनगर के अधिष्ठाता प्रो. जी.के. सिंह और विष्वविद्यालय अनुदान आयोग की संयुक्त सचिव श्रीमती ममता आर. अग्रवाल सदस्य सचिव के रूप में शामिल हैं। निरीक्षण दल के कुलपति सचिवालय पहुँचने पर वेटरनरी विष्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बी.आर. छीपा ने उनका स्वागत करते हुए कहा कि इस वेटरनरी विश्वविद्यालय ने अल्प समय में चहुँमुखी विकास कर देष में पषुचिकित्सा षिक्षा एवं अनुसंधान के क्षेत्र में उत्कृष्ट स्थान बनाया हैै। यह टीम राजुवास के षिक्षकों और कर्मचारियों की कड़ी मेहनत और लगन का परिणाम है। इस अवसर पर निरीक्षण दल के अध्यक्ष कुलपति प्रो. एन.सी. पटेल ने कहा कि निरीक्षण दल विश्वविद्यालय में उपलब्ध आधारभूत सुविधाओं, विŸाीय, शैक्षणिक, अनुसंधान और प्रसार कार्यों को देखकर निर्धारित प्रपत्र में अपना प्रतिवेदन विश्वविद्यालय अनुदान आयोग को प्रस्तुत करेगा। दल की सदस्य सचिव श्रीमती ममता आर. अग्रवाल ने कहा कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के निर्धारित मापदण्डों के अनुकूल विश्वविद्यालय की शैक्षणिक, अनुसंधान और प्रसार कार्यों का आंकलन कर प्रतिवेदन विश्वविद्यालय अनुदान आयोग को प्रस्तुत करेगा जिसके आधार पर वेटरनरी विश्वविद्यालय को आयोग से विŸाीय सहायता सुलभ हो सकेगी। सदस्य कुलपति प्रो. पी.डी. जुयाल और अधिष्ठाता प्रो. जी.के. सिंह ने भी अपना उद्बोधन दिया। वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता और विश्वविद्यालय फैकल्टी के अध्यक्ष प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने वर्ष 2010 में विश्वविद्यालय की स्थापना से अब तक की सुद्दढ़ विŸाीय स्थिति, शैक्षणिक और अनुसंधान में उत्कृष्टता और प्रसार कार्यक्रमों के परिणामों और विषिष्ट उपलब्धियों को पावर प्रजेन्टेषन के रूप में प्रस्तुत किया। इस अवसर पर विष्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. हेमंत दाधीच, विŸानियंत्रक अरविंद बिष्नोई और डीन डाॅयरेक्टर उपस्थित थे। दल के सदस्यों ने राजुवास परिसर में कुलपति, कुलसचिव, विŸानियंत्रक कार्यालयों को देखा और जानकारी ली। इसके बाद पुस्तकालय सेवाओं, आई.यू.एम.एस. और टोल-फ्री हैल्प लाइन की कार्यप्रणाली को देखा और सराहा। दल के सदस्यों ने वेटरनरी काॅलेज के पशु कार्यिकी विभाग, सूक्ष्म जैव प्रौद्योगिकी, एपेक्स सेन्टर, पशुपोषण विभाग, हाइड्रोपोनिक्स, अजोला व चारा उत्पादन इकाई, जैव रसायन विभाग, परजीवी विज्ञान विभाग, पोल्ट्री और लैंग्वेज लैब का अवलोकन कर विभागाध्यक्षों से जानकारी ली। टीम ने काॅलेज के छात्रावासों की मैस व्यवस्था को देखा और छात्र-छात्राओं से संवाद किया।

निदेशक