भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा देश के विश्वविद्यालयों की रैकिंग में राजुवास फिर शीर्ष पर राज्य के विश्वविद्यालयों में राजुवास प्रथम स्थान पर

क्रमांक 002                                                                                                                                           3 अप्रैल, 2017

भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा देश
के विश्वविद्यालयों की रैकिंग में राजुवास फिर शीर्ष पर
राज्य के विश्वविद्यालयों में राजुवास प्रथम स्थान पर

बीकानेर, 3 अप्रैल। राजस्थान वेटरनरी विश्वविद्यालय ने अपनी स्थापना के अल्पकाल में ही विश्वविद्यालयों की इन्डिया रैंकिंग 2017 में देश में शीर्ष और राजस्थान में प्रथम रैंकिंग में अपना स्थान बनाया है। भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा की गई रैंकिंग में इस बार वेटरनरी विश्वविद्यालय को 789 विश्वविद्यालयों में से 68वीं रैंक प्राप्त हुई है सिर्फ बिड़ला इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नालाॅजी पिलानी और वनस्थली विद्यापीठ (डीम्ड विश्वविद्यालय) इससे आगे हैं। गत वर्ष की रैंकिंग में यह विश्वविद्यालय 97वें स्थान पर रहा था। सोमवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा सर्वे के लिए निर्धारित विस्तृत पेरामीटर के आधार पर राजुवास ने बाजी मारी है। राजुवास इस सर्वे की टीचिंग एण्ड लर्निंग रिसोर्सेज केटेगरी में देश में 25 वें स्थान पर है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से देश में कुल 789 मान्य विश्वविद्यालय शामिल हैं। वेटरनरी विश्वविद्यालय ने एक वर्ष की अल्प अवधि में 29 विश्वविद्यालयों को पीछे छोड़ते हुए देशभर में नई रैंकिंग प्राप्त की है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देश के उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए निर्धारित केटेगरी में प्रदर्शन आधार पर की गई रैंकिंग में राजस्थान राज्य के सभी 25 राजकीय विश्वविद्यालयों और 42 निजी विश्वविद्यालयों की रैंकिंग में वेटरनरी विश्वविद्यालय प्रथम स्थान पर रहा है। वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. ए.के. गहलोत ने बताया कि इस सर्वे के अनुसार देश के पशुचिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालयों की रैंकिंग में राजस्थान वेटरनरी विश्वविद्यालय तीसरे स्थान पर रहा है। तमिलनाडु वेटरनरी एण्ड एनीमल र्साइंसेज यूनिवर्सिटी चैन्नई और गुरू अंगददेव वेटरनरी साईंसेज यूनिवर्सिटी लुधियाना पहली दो रैकिंग में शामिल हैं। राजुवास को देश के कृषि विश्वविद्यालयों की रैंकिंग में आठवें स्थान पर रहने का गौरव प्राप्त हुआ है। भारत सरकार के तत्वावधान में की गई इस रंैकिंग में देश की विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों से 4 मानदण्डों के आधार पर एकत्रित आंकडों के आधार पर इसकी घोषणा सोमवार को केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर द्वारा की गई है। कुलपति प्रो. गहलोत ने टीम राजुवास की मेहनत, लगन और निष्ठा के कारण मिली इस उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई दी है।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ