पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में सत्र 2017-18 के नव प्रवेशित स्नातक छात्र छात्राओं का ओरियन्टेशन कार्यक्रम

No.: 18/2017                                                                                                             04.10.2017

पी.जी.आई.वी.ई.आर., जयपुर में सत्र 2017-18 के नव प्रवेशित स्नातक छात्र छात्राओं का ओरियन्टेशन कार्यक्रम

जयपुर, 04 अक्टूबर। स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पी.जी.आई.वी.ई.आर.), जयपुर में मंगलवार को सत्र 2017-18 के नव प्रवेषित स्नातक छात्र-छात्राओं का ओरियन्टेशन क्रार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में संकाय सदस्यों तथा नव प्रवेशित विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके अभिभावक भी बड़ी संख्या में उपस्थित रहे। कार्यक्रम की षुरूआत में सीनियर विद्यार्थियों द्वारा तिलक लगाकर जूनियर विद्यार्थियों का स्वागत किया गया। तत्पष्चात् नव प्रवेषित छात्र – छात्राओं ने अपना परिचय प्रस्तुत किया तथा उपस्थित संकाय सदस्यांे के बारे में भी जानकारी हासिल की। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संस्थान के अधिष्ठाता (प्रो.) डाॅ. विष्णु षर्मा ने अपने उद्बोधन में बताया कि पषुचिकित्सा षिक्षा एक उत्कृष्ट व्यवसायिक षिक्षा है जो समाज के सभी वर्गो से जुड़ा हुआ है। उन्होंने पावर पाॅइन्ट प्रजेन्टेषन के माध्यम से विद्यार्थियों को संस्थान के संरचनात्मक एवं क्रियात्मक क्रियाकलापांे से अवगत कराया। संस्थान की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए अधिष्ठाता महोदय ने बताया कि इस संस्थान के विद्यार्थी सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्षन करते आ रहे हैं तथा विगत दो वर्षों से लगातार बी.वी.एस.सी. एण्ड ए.एच. प्रथम वर्ष के विद्यार्थी विष्वविद्यालय मेरिट में प्रथम पाँच में से तीन स्थानों क्रमषः प्रथम, तृतीय एवं पंचम स्थानों पर अपना कब्जा जमाते आ रहे हैं। उन्होंने सभी छात्र-छात्राओं से इस संस्थान के विकास में सहयोग करने तथा इस प्रदर्षन को आगे और बेहतर करने की इच्छा जताई। अकादमिक समन्वयक डाॅ. मोनिका करनाणी ने पाठ्यक्रम, समय सारणी, उपस्थ्तिि आदि से संबधिंत नियमों की विस्तृत जानकारी दी। सहायक अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. वाई.पी. सिंह ने विद्यार्थियों को संस्थान की सामान्य जानकारी से अवगत कराया। उन्होंने विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों के विभिन्न सवालों एवं संकाओं का निराकरण किया। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों तथा प्रकोष्ठों के विभागाध्यक्ष/प्रभारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम के पष्चात् नव प्रवेषित विद्यार्थियों ने संस्थान के विभिन्न विभागों का भ्रमण किया तथा जानकारियां हासिल की।

(Sd/-)
अधिष्ठाता