पशुचिकित्सा और पशुपालन क्षेत्र में केरियर को कैसे विकसित करें विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन

पशुचिकित्सा और पशुपालन क्षेत्र में केरियर को कैसे विकसित करें विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन

बीकानेर, 26 सितम्बर। वेटरनरी विश्वविद्यालय के संगठक महाविद्यालय पी.जी.आई.वी.ई.आर. जयपुर द्वारा शनिवार को पशुधन नवाचार, ज्ञान और उद्यमिता कौशल केन्द्र के तत्वावधान में “पशुचिकित्सा और पशुपालन क्षेत्र में केरियर को कैसे विकसित करें“ विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार की अध्यक्षता करते हुए अधिष्ठाता एवं संकाय अध्यक्ष प्रो. आर.के. सिंह ने वेबिनार के विषय को आज के युवा पशुचिकित्सकों एवं पशुचिकित्सा विद्यार्थियों के लिए अत्यन्त सामयिक बताया एवं कहा कि जैविक खेती, देशी गौवंश पालन, सीमन बैंक, वैक्सीन निर्माण आदि उद्यमिता के क्षेत्र है जिसमें अच्छे केरियर की अपार संभावनांए है। संस्थान की अधिष्ठाता प्रो. संजीता शर्मा ने अपने उदबोधन में बताया कि पशुचिकित्सा विधार्थियों को सर्वप्रथम अपनी रूचि का स्वः आंकलन कर उस विभाग से जुड़े विशेषज्ञों तथा सफल उद्यमियों से सम्पर्क कर अपनी केरियर के क्षेत्र में मार्ग-दर्शन लेना चाहिए। वेबिनार के मुख्य वक्ता डॉ. राहुल श्रीवास्तव, वाइस प्रेसिडेंट, हेसचर बायो साइंस लिमिटेड़ ने पशुचिकित्सा के विभिन्न आयामों का विस्तार पूर्वक उल्लेख करते हुए विधार्थियों को हर क्षेत्र में सफलता के रहस्यों से अवगत कराया। उन्होनें बताया कि हमारे प्रोफेशन में विविध प्रकार के क्षेत्रों में रोजगार की असीमित संभावनाऐं है। हमें इस प्रोफेशन को मजबूरी में नहीं अपितु दिल से अपनाना चाहिये। उन्होंने पशुपालन के विभिन्न क्षेत्रों में सफल उद्यमियों का उदाहरण प्रस्तुत करते हुए प्रतिभागियों को प्रेरित किया। आगे उन्होंने बताया कि सफलता में समय लगता है और अगर हम अपना लक्ष्य निर्धारित कर उस ओर पूरे जुनून के साथ आगे बढ़ें तो सफलता जरूर मिलती है। वेबिनार का संचालन डॉ. अशोक बैंदा तथा धन्यवाद ज्ञापन डॉ. रश्मि सिंह ने किया।