नव प्रवेशित वेटरनरी छात्रों का आॅरियन्टेशन कार्यक्रम संपन्न

क्रमांक 96                                                                                                         14 सितम्बर, 2018

नव प्रवेशित वेटरनरी छात्रों का आॅरियन्टेशन कार्यक्रम संपन्न
पशुचिकित्सा शिक्षा में विविधिकृत कार्यों के साथ अनेकों अवसर मौजूद हैंः अधिष्ठाता प्रो. शर्मा

बीकानेर, 14 सितम्बर। वेटरनरी महाविद्यालय के बी.वी.एससी. एण्ड ए.एच. प्रथम वर्ष में नव प्रवेशित छात्र-छात्राओं ने पहले दिन शुक्रवार को आयोजित आॅरियन्टेशन कार्यक्रम में भाग लेकर 17 विभागों का भ्रमण कर महाविद्यालय की कार्यप्रणाली देखी। वेटरनरी आॅडिटोरियम में आॅरियन्टेषन कार्यक्रम में वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने कहा कि वर्तमान युग पशुचिकित्सा विज्ञान का है जिसमें वेटरनरी छात्र-छात्राओं के लिए विविधिपूर्ण क्षेत्रों में कार्य करने की विपुल संभावनाएं मौजूद हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को राज्य के 64 वर्ष पुराने प्रतिष्ठित पशुचिकित्सा षिक्षा महाविद्यालय में प्रवेष के लिए बधाई देते हुए आषा जताई कि वे कायदे-कानून में रहकर अनुशासन और शिक्षण में श्रेष्ठता हासिल कर स्थापित पंरपराओं को आगे बढ़ायेंगे। राजुवास के अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. एस.सी. गोस्वामी ने कहा कि इस महाविद्यालय में उत्कृष्ट शिक्षण के साथ ही प्रखर व्यक्तित्व व उसके चहुँमुखी विकास के सभी अवसर उपलब्ध हैं। आदरभाव और संास्कृतिक मूल्यों के साथ ही विद्यार्थी जीवन में सफलता हासिल की जा सकती है। पशु शरीर क्रिया विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष प्रो. नलिनी कटारिया और शरीर रचना विज्ञान के विभागाध्यक्ष प्रो. संजीव जोशी ने गरिमा के अनुकूल शिक्षण में समपर्ण भाव को जरूरी बताया। मुख्य हाॅस्टल वार्डन और सर्जरी एवं रेडियो डाॅयग्नोस्टिक विभाग के प्रमुख डाॅ. प्रवीण बिश्नोई ने आवासीय सुविधाओं की जानकारी दी।। शैक्षणिक समन्वयक डाॅ. एस.के. झीरवाल ने पाठ्यक्रम अध्ययन और शैक्षणिक व्यवस्था से अवगत करवाया। कार्यक्रम में सहायक अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. अशोक डांगी, फैकल्टी सदस्य जे.पी. कच्छावा, डाॅ. सुनीता चैधरी, डाॅ. अभिषेक गुप्ता, डाॅ. अमित कुमार पांडे शामिल हुए।

निदेशक