देश के ख्यातनाम कृषक वैज्ञानिकों के साथ विशेषज्ञों का राष्ट्रीय मंथन वेटरनरी विष्वविद्यालय में आगामी 9-10 मार्च को

.
क्रमांक 1418                                                                                                                  2 मार्च, 2017

देश के ख्यातनाम कृषक वैज्ञानिकों के साथ विशेषज्ञों का राष्ट्रीय मंथन वेटरनरी विष्वविद्यालय में आगामी 9-10 मार्च को

बीकानेर, 2 मार्च। देश के ख्यातनाम कृषक वैज्ञानिकों की राज्य के प्रगतिशील कृषक-पशुपालकों, वैज्ञानिकों के साथ दो दिवसीय राष्ट्रीय मंथन आगामी 9-10 मार्च को वेटरनरी विश्वविद्यालय में आयोजित की जाएगी। वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. ए.के. गहलोत ने बताया कि देश के कृषि और पशुपालन क्षेत्र में नवाचार और उत्कृष्ट कार्यों से धूम मचाने वाले करीब 26 “फार्मर्स सांइटिस्ट“ राष्ट्रीय मंथन के इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। इस संगोष्ठी मंे राज्य के विभिन्न जिलों से किसान और पशुपालकों सहित आई.सी.ए.आर., कृषि व वेटरनरी विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों को भी आंमत्रित किया गया है। उन्होंने बताया कि इस संगोष्ठी में कृषि और पशुपालन में उत्पादन में वृद्धि और नव तकनीकों के समावेश पर विचार-विमर्श किया जाएगा। कृषक वैज्ञानिकों ने अपने यहां अनूठे कार्यों और नवाचारों से विशिष्ठ पहचान बनाई हैं क्योंकि देश के कई मंचों पर इसकी सराहना हुई है। इसमें उत्तर भारत के 6 प्रांतों में अपने खेतों में अनुसंधान और नवाचारों से “फार्मर्स साइंटिस्ट“ के रूप में जाने-पहचाने वाले प्रमुख लोगों में श्री ईश्वर सिंह कुंडू, श्री प्रिन्स कम्बोज और धर्मवीर कम्बोज (हरियाणा), श्री संूडाराम वर्मा, राम सिंह दहिया व इशाक अली (राजस्थान), चैधरी परमाराम, श्री हरिमन शर्मा, (हिमाचल प्रदेश), श्री तात्यासाहेब फड़तरे (महाराष्ट्र), श्री मोहम्मद मकबूल रैना (जम्मू-कश्मीर), शामिल हैं।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ