देशी पशु नस्लों के संरक्षण पर वेटरनरी विश्वविद्यालय में वैज्ञानिकों की 21 दिवसीय शीतकालीन कार्यशाला 30 अक्टूबर से

क्रमांक 1754                                                                                                  28 अक्टूबर, 2017

देशी पशु नस्लों के संरक्षण पर
वेटरनरी विश्वविद्यालय में वैज्ञानिकों की 21 दिवसीय शीतकालीन कार्यशाला 30 अक्टूबर से

बीकानेर 28 अक्टूबर। “देशी पशुओं की नस्लों के संरक्षण एवं संवर्द्धन“ विषय पर वैज्ञानिकों की 21 दिवसीय शीतकालीन कार्यशाला आगामी सोमवार से वेटरनरी विश्वविद्यालय के पशुधन उत्पादन प्रबंधन विभाग में शुरू होगी। कार्यशाला में राज्य कृषि विश्वविद्यालयों और वेटरनरी विश्वविद्यालयों के वैज्ञानिक विशेषज्ञ शामिल होंगे। यह कार्यशाला भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् वित्त पोषित है। कार्यशाला के निदेशक प्रो. एस.सी. गोस्वामी ने बताया कि 30 अक्टूबर को प्रातः 10 बजे के कुलपति प्रो. बी.आर. छीपा कार्यशाला का उद्घाटन करेंगे। उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता प्रो. त्रिभुवन शर्मा, अधिष्ठाता, वेटरनरी काॅलेज करेंगे। प्रो. गोस्वामी ने बताया कि कार्यशाला में विषय विशेषज्ञों द्वारा 125 व्याख्यान प्रस्तुत किये जायेंगे। संभागियों को बीछवाल, कोडमदेसर पशुधन अनुसंधान केन्द्रों सहित भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् के संस्थानों का भ्रमण करवाकर प्रायोगिक कार्यों की जानकारी भी करवाई जाएगी।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ