दुबई केमल हाॅस्पीटल के लिए राजुवास में हुआ स्काइप साक्षात्कार डिजिटल तकनीक का साक्षात्कार में हुआ प्रयोग

क्रमांक 1674                                                                     6 जुलाई, 2017

दुबई केमल हाॅस्पीटल के लिए राजुवास में हुआ स्काइप साक्षात्कार
डिजिटल तकनीक का साक्षात्कार में हुआ प्रयोग

बीकानेर 6 जुलाई। दुबई के केमल हाॅस्पीटल में वेअरनरी विश्वविद्यालय के ऊंट चिकित्सा विशेषज्ञों की सेवाओं के लिए राजुवास में स्काइप साक्षात्कार का आयोजन किया गया है। इस साक्षात्कार के लिए पहली बार उिजिटल तकनीक का उपयोग चयन प्रक्रिया में किया गया है। वेटरनरी काॅलेज, बीकानेर की टीचिंग वेटरनरी क्लिनिकल काॅम्प्लेक्स में कार्यरत डाॅ. रामवीर सिंह और डाॅ. मुन्ना लाल का दुबई से स्काइप साक्षात्कार (आॅनलाइन) गुरूवार को सम्पन्न हो गया। साक्षात्कार समिति में दुबई केमल हाॅस्पीटल के निदेशक डाॅ. सेड्रिक चैन, अल-आईन एम्ब्रयो ट्रांसफर सेन्टर के विशेषज्ञ डाॅ. अलैक्स टिन्शन व डाॅ. कुलदीप कुहाड़ और दुबई केमल हाॅस्पीटल के प्रबंधन सदस्य शामिल थे। उल्लेखनीय है कि दुबई के निदेशक डाॅ. सैड्रिक चैन ने मई 2017 में बीकानेर आकर 5 दिन तक राजुवास के टी.वी.सी.सी. और यहां की केमल क्लिनिक में शल्य रोग चिकित्सा अनुसंधान तथा तकनीकी सुविधाओं का जायजा लिया था। उन्होंने अपनी यात्रा के दौरान ही विख्यात ऊंट चिकित्सा विशेषज्ञ और राजुवास सर्जरी विभाग के प्रो. टी.के. गहलोत से इच्छुक विशेषज्ञों की सेवाएं अपने यहां लिए जाने की इच्छा जताई थी। राजुवास के इच्छुक विशेषज्ञों के बायोडाटा दुबई भिजवाए गए थे जिनमें से दो का चयन करने के लिए स्काइप साक्षात्कार आयोजित किया गया है। वेटरनरी काॅलेज के अधिष्ठाता प्रो. त्रिभुवन शर्मा ने बताया कि राजुवास के लिए अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर स्काइप साक्षात्कार का यह पहला अवसर है जिसे जानकर छात्रों और फैकल्टी में हर्ष की लहर व्याप्त है। महाविद्यालय के सर्जरी विभागाध्यक्ष डाॅ. प्रवीण बिश्नोई ने बताया कि ऊंटों की शल्य चिकित्सा में इस विभाग द्वारा किए गए महत्ती कार्यों की बदौलत आज अन्र्तराष्ट्रीय पहचान बनी है। यहां के ऊंट विशेषज्ञों की अरब देशों में मांग बढ़ी है।

समन्वयक
जनसम्पर्क प्रकोष्ठ