उद्यामिता प्रोत्साहन योजना वेटरनरी छात्र-छात्राओं ने ब्राॅयलर और दूध के उत्पाद तैयार कर लाभ अर्जित किया

क्रमांक 17                                                                                                        11 मई, 2018

उद्यामिता प्रोत्साहन योजना
वेटरनरी छात्र-छात्राओं ने ब्राॅयलर और दूध के
उत्पाद तैयार कर लाभ अर्जित किया

बीकानेर, 11 मई। वेटरनरी काॅलेज में विद्यार्थियों ने उद्यामिता प्रोत्साहन योजना में इस बार ब्राॅयलर उत्पादन और दूध के विभिन्न उत्पाद तैयार कर बिक्री से अच्छा लाभ अर्जित किया है। इसके लिए विश्वविद्यालय के स्नातक चतुर्थ वर्ष के छात्र-छात्राओं को ब्याज मुक्त राशि मंजूर करके 5 बैच को सुलभ करवाई गई। इन विद्यार्थियों ने उत्पादों की बिक्री कर मूल धन राशि विश्वविद्यालय को वापिस लौटा कर लाभ अर्जित किया। पशुधन उत्पादन तकनीकी केन्द्र की प्रमुख प्रो. बसंत बैस ने बताया कि ब्राॅयलर उत्पादन कार्य के लिए विद्यार्थियों ने 100 चूजों से ब्राॅयलर तैयार किये। दूसरे बैच के विद्यार्थियों ने डाॅ. आर.एन. कच्छवाह की देखरेख में दूध से पनीर, लस्सी, खोया और श्रीखंड के उप-उत्पाद तैयार कर बिक्री की। ब्राॅयलर का उत्पादन पोल्ट्री फाॅर्म के डाॅ. छोटू सिंह और डाॅ. संजय सिंह की देखरेख में किया गया। वेटरनरी काॅलेज में प्रतिवर्ष उद्यमिता प्रोत्साहन योजना के तहत छात्र-छात्राओं द्वारा ऐसे उत्पाद तैयार किये जाते हैं।

निदेशक