आत्मा परियोजना में वेटरनरी विश्वविद्यालय में स्वयं सहायता समूह की 30 महिलाओं का दो दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न

आत्मा परियोजना में
वेटरनरी विश्वविद्यालय में स्वयं सहायता समूह की 30
महिलाओं का दो दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न

बीकानेर, 2 मार्च। वेटरनरी विश्वविद्यालय के पशुधन चारा संसाधन प्रबंधन एवं तकनीक केन्द्र व उपनिदेशक कृषि आत्मा परियोजना के संयुक्त तत्वावधान में “पशुपालकों की आय में वृद्धि की उन्नत तकनीकें“ विषय पर दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर मंगलवार को संपन्न हो गया। शिविर में बीकानेर पंचायत समिति की राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद् की स्वयं सहायता समूह की 30 महिलाएं सदस्य शामिल हुई। शिविर में प्रशिक्षणार्थियों को हरा चारा उत्पादन, पशु स्वास्थय एवं पशुपोषण प्रबन्धन विषय पर विशेषज्ञों द्वारा व्याख्यान दिये गये। प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य महिलाओं में कौशल विकास कर इनकी आर्थिक स्थिति को संबल बनाना है। इस अवसर पर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार लीला नायक, द्वितीय पुरस्कार ज्योति स्वामी तथा तृतीय पुरस्कार किस्तुरी नायक को दिया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में निदेशक मानव संसाधन विकास, प्रो. (डाॅ.) त्रिभुवन शर्मा, डाॅ. दिनेश जैन, डाॅ. तारा बोथरा, डाॅ. राजेश नेहरा, डाॅ. सीताराम गुप्ता, डाॅ. लूणा राम, दिनेश आचार्य एवं महेन्द्र सिंह मनोहर द्वारा तकनीकी जानकारियां दी गई।